Home /News /nation /

Omicron Variant: IMA ने जताई कोरोना की तीसरी लहर की आशंका, कहा- सरकार तुरंत उठाए ये कदम

Omicron Variant: IMA ने जताई कोरोना की तीसरी लहर की आशंका, कहा- सरकार तुरंत उठाए ये कदम

देश में कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट ने दस्‍तक दे दी है. (Pic- AP)

देश में कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट ने दस्‍तक दे दी है. (Pic- AP)

Coronavirus New Variant Omicron: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) की ओर से कहा गया है भारत (India) के प्रमुख राज्यों में कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए स्वरूप ओमिक्रॉन (Omicron Variant) के मामले सामने आ चुके हैं जोकि दोहरे अंक में हैं और इनकी संख्या में वृद्धि होने की आशंका है. आईएमए ने दावा किया है कि उपलब्ध वैज्ञानिक साक्ष्यों और इसकी उत्पत्ति वाले देशों से जुड़े अनुभव से पता चलता है कि ओमिक्रॉन अधिक तेजी से फैलता है और अधिक से अधिक लोगों को चपेट में ले सकता है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए स्वरूप ओमिक्रॉन (Omicron Variant) को लेकर बढ़ती चिंता के बीच इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने सोमवार को केंद्र सरकार से स्वास्थ्यकर्मियों (Health Workers), अग्रिम मोर्चा कर्मियों और कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) वाले व्यक्तियों के लिए कोविड-रोधी टीके की बूस्‍टर डोज (Booster Dose) देने की घोषणा करने का अनुरोध किया है. आईएमए ने यह भी मांग की है कि सरकार 12-18 आयुवर्ग के टीकाकरण प्रस्ताव पर तेजी से विचार करे. देश में ओमिक्रॉन के 23 मामले सामने आ चुके हैं.

    इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की ओर से कहा गया है भारत के प्रमुख राज्यों में वायरस के नए स्वरूप के मामले सामने आ चुके हैं जोकि दोहरे अंक में हैं और इनकी संख्या में वृद्धि होने की आशंका है. आईएमए ने दावा किया है कि उपलब्ध वैज्ञानिक साक्ष्यों और इसकी उत्पत्ति वाले देशों से जुड़े अनुभव से पता चलता है कि ओमिक्रॉन अधिक तेजी से फैलता है और अधिक से अधिक लोगों को चपेट में ले सकता है.

    आईएमए ने कहा, ‘ऐसे समय में जब भारत सामान्य स्थिति की ओर बढ़ रहा है, ये बड़ा झटका साबित हो सकता है. अगर हम पर्याप्त उपाय नहीं करते तो हमें महामारी की भयंकर तीसरी लहर का सामना करना पड़ सकता है.’ आईएमए ने इसे देखते हुए सरकार से स्वास्थ्यकर्मियों, अग्रिम मोर्चा कर्मियों और कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्तियों के लिए कोविड-रोधी टीके की बूस्‍टर डोज देने की घोषणा करने का अनुरोध किया है.

    इसे भी पढ़ें :- Omicron: भारत में कब लगेगी बूस्‍टर डोज? मिक्‍स एंड मैच वैक्‍सीन से होगा फायदा? जानें क्‍या बोले विशेषज्ञ

    बता दें कि बूस्‍टर डोज को लेकर सोमवार को राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) की बैठक में कोई निर्णय नहीं लिया गया है. एनटीएजीआई ने ओमिक्रॉन से जुड़े आंकड़ों का आकलन किया है, जो बताता है कि देश में कोरोना के संक्रमण का खतरा काफी ज्‍यादा है. हालांकि कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि सबसे पहले स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों को बूस्‍टर डोज दिया जाना चाहिए. विशेषज्ञों का कहना है कि फ्रंट लाइन वर्कर्स के साथ बुजुर्गों को भी बूस्‍टर डोज दिया जाना चाहिए जिन्‍हें सबसे पहले वैक्‍सीन लगाई गई थी. इन सभी लोगों को वैक्‍सीन लगे काफी ज्‍यादा समय हो चुका है और उनके संक्रमित होने की आशंका ज्‍यादा है. एक अधिकारी ने कहा, ‘एनटीएजीआई इस मुद्दे पर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के दिशा-निर्देशों का इंतजार कर रहा है, उसके बाद ही बूस्‍टर डोज को लेकर कोई निर्णय लिया जाएगा.’

    इसे भी पढ़ें :- बूस्‍टर डोज पर विशेषज्ञों की नहीं बनी एक राय, पैनल ने कहा- Omicron पर अभी नजर रखने की जरूरत

    ओमिक्रॉन वेरिएंट के क्‍या हैं लक्षण :-
    बहुत ज्यादा थकान
    हल्का सिरदर्द
    पूरे शरीर में दर्द
    गले में खराश
    सूखी खांसी

    Tags: Booster Dose, Corona, Coronavirus, Health Workers, Immunity, Indian Medical Association, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर