Home /News /nation /

Omicron: जितनी तेजी से बढ़ा ओमिक्रॉन संक्रमण, उतनी ही तेजी से गिरा भी! जानें कब खत्म होगा कहर

Omicron: जितनी तेजी से बढ़ा ओमिक्रॉन संक्रमण, उतनी ही तेजी से गिरा भी! जानें कब खत्म होगा कहर

ओमिक्रॉन के कहर के दौरान दो बातें साफ हुई हैं, एक वैक्सीन लगने वालों को ओमिक्रॉन का संक्रमण तो हुआ लेकिन वह घातक नहीं रहा, वहीं दूसरा ओमिक्रॉन की संक्रमण दर तेज होने के साथ-साथ इसकी गिरावट दर में भी तेजी देखी गई है. फाइल फोटो

ओमिक्रॉन के कहर के दौरान दो बातें साफ हुई हैं, एक वैक्सीन लगने वालों को ओमिक्रॉन का संक्रमण तो हुआ लेकिन वह घातक नहीं रहा, वहीं दूसरा ओमिक्रॉन की संक्रमण दर तेज होने के साथ-साथ इसकी गिरावट दर में भी तेजी देखी गई है. फाइल फोटो

Omicron Variant infection: ओमिक्रॉन के कहर के दौरान दो बातें साफ हुई हैं, एक वैक्सीन लगने वालों को ओमिक्रॉन का संक्रमण तो हुआ लेकिन वह घातक नहीं रहा, वहीं दूसरा ओमिक्रॉन की संक्रमण दर तेज होने के साथ-साथ इसकी गिरावट दर में भी तेजी देखी गई है. मार्क सुजमैन ने कोरोना के नियंत्रण में भारत की भूमिका को अहम बताते हुए कोविशील्ड के भारत में निर्माण और भारत में निर्मित स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन की महत्ता पर प्रकाश डाला. उन्होंने उम्मीद जताई कि भारत आगे चलकर एमआरएनए निर्माण में महती भूमिका निभा सकता है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. एक तरफ जहां ओमिक्रॉन की दूसरी उपजाति (जो आरटी-पीसीआर से बच जाती है) के बढ़ने को लेकर भारत में तनाव का माहौल बना हुआ है और रोजाना देश में 2 लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. इसी बीच एक अच्छी खबर भी आई है. विशेषज्ञों का मानना है कि अप्रैल-मई तक ओमिक्रॉन का कहर खत्म हो सकता है. टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के काम और संक्षिप्त रिपोर्ट में अनुमान है कि हम अभी भी ओमिक्रॉन के संकट के बीच में हैं, लेकिन इसके डेटा को देख कर लगता है कि इसमें तेजी से गिरावट देखने को मिल सकती है.

आंकड़ों को देखकर इस बात का अंदाजा लगाया जा रहा है कि अप्रैल-मई तक शायद ज्यादातर देशों से, जिसमें भारत भी शामिल है, ओमिक्रॉन संक्रमण बीती बात हो सकता है. हालांकि अभी हमें दूसरे वेरिएंट पर नजर बनाकर रखनी होगी. वहीं बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सीईओ और नए बने बोर्ड सदस्य मार्क सुज़मैन का मानना है कि दुनिया भर में वैक्सीन वितरण में हुई असमानता भी कोरोना के नियंत्रण में ना आने की एक अहम वजह है. जहां अमीर देशों में निर्बाध आपूर्ति हुई वहीं गरीब देशों तक इसकी पहुंच नहीं हो पाने से कोरोना के दुष्परिणाम देखने को मिले हैं.

'mRNA निर्माण में भारत निभाएगा अहम रोल'

Tags: Coronavirus, Omicron

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर