Home /News /nation /

Omicron in India: 'ओमिक्रॉन' के खिलाफ जंग की तैयारियां तेज, मुंबई में रेलवे अस्पताल में लगा ऑक्सीजन प्लांट

Omicron in India: 'ओमिक्रॉन' के खिलाफ जंग की तैयारियां तेज, मुंबई में रेलवे अस्पताल में लगा ऑक्सीजन प्लांट

ओमिक्रॉन वेरिएंट के खतरे को देखते हुए रेलवे ने पूरे देश मे अपने 86 अस्पतालों में प्लांट लगाने की योजना बनाई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

ओमिक्रॉन वेरिएंट के खतरे को देखते हुए रेलवे ने पूरे देश मे अपने 86 अस्पतालों में प्लांट लगाने की योजना बनाई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

Omicron in India: पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने बताया कि कोरोना के नए वेरिएंट (Coronavirus New Variant) को देखते हुए हमने अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं. हमने जगजीवन राम अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगाया है जिसके जरिए हर मिनट 1000 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन हो सकेगा. इस ऑक्सीजन प्लांट को हमने पाइपलाइन के जरिये हमने सीधे अस्पताल में करीब 200 बेड्स से जोड़ा है, जिससे मरीज को डायरेक्ट ऑक्सीजन मिल सकेगा.

अधिक पढ़ें ...

मुंबई. कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) की बढ़ती दहशत को देखते हुए उससे निपटने के लिए रेलवे (Railway) ने अपनी कमर कसनी शुरू कर दी है. इसी के तहत मुंबई (Mumbai) में पश्चिम रेलवे (Western Railway) ने जगजीवन राम अस्पताल (Jagjivan Ram Hospital) में ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) लगाया है, जिसके जरिए हर मिनट 1000 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन हो सकेगा. रेलवे द्वारा अपने अस्पताल में लगाया गया इस तरह का यह पहला ऑक्सीजन प्लांट है.

मुंबई सेंट्रल में मौजूद पश्चिम रेलवे के जगजीवन राम अस्पताल में जो ऑक्सीजन प्लांट लगाया गया है, उसमें पहले बाहरी हवा के जरिए ऑक्सिजन का उत्पादन होगा और फिर अपने आप 500-500 लीटर के दो बड़े टैंक में ऑक्सीजन स्टोर हो जाएगा. इस टैंक को पाइपलाइन के जरिए सीधे अस्पताल से जोड़ा गया है, यानि ऑक्सीजन स्टोर होने के बाद सीधे मरीज तक पहुंचेगा. इस प्लांट के जरिए हर मिनट 1000 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन होगा और हर दिन करीब 100 मरीजों को दिया जा सकेगा. इतना ही नहीं, इस प्लांट में अगर कोई तकनीकी दिक्कत आती है तो विकल्प के तौर पर ऑक्सीजन सिलेंडर की भी व्यवस्था रेलवे ने की है.

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने बताया कि कोरोना के नए वेरिएंट को देखते हुए हमने अपनी तैयारियां पूरी कर ली है. हमने जगजीवन राम अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगाया है जिसके जरिए हर मिनट 1000 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन हो सकेगा. इस ऑक्सीजन प्लांट को हमने पाइपलाइन के जरिये हमने सीधे अस्पताल में करीब 200 बेड्स से जोड़ा है, जिससे मरीज को डायरेक्ट ऑक्सीजन मिल सकेगा.

यह भी पढ़ें: बच्चे और वैक्सीन लगवा चुके लोग भी ओमिक्रॉन से संक्रमित! वायरस का पता लगाने वाली डॉक्टर ने किया खुलासा

दरअसल ओमिक्रॉन वेरिएंट के खतरे को देखते हुए रेलवे ने पूरे देश मे अपने 86 अस्पतालों में इसी तरह का प्लांट लगाने की योजना बनाई है और जगजीवन राम अस्पताल में लगा यह पहला प्लांट उसी का हिस्सा है. रेलवे अधिकारियों के मुताबिक इस प्लांट के लगने से कोविड के सामने आ रहे नए वेरिएंट से लड़ने में काफी मदद मिलेगी. इस ऑक्सीजन प्लांट के अलावा जगजीवन राम अस्पताल में रेलवे ने आईसीयू और नार्मल वार्ड में बेड्स की संख्या बढ़ा दी है और बाकी जरूरी तैयारियां भी युद्ध स्तर पर जारी है.

कोरोना की दूसरी में मुंबई में जबरदस्त ऑक्सीजन की किल्लत देखने को मिली थी. हालात ये बन गए थे कि दूसरे राज्यों से ऑक्सीजन मंगवाना पड़ा था. ऐसे में कोरोना के नए और खतरनाक वेरिएंट की दहशत को देखते हुए रेलवे अपनी तमाम तैयारियां पहले से करके रखने में जुटी हुई है.

Tags: Coronavirus, Jagjivan Ram Hospital, Omicron, Oxygen

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर