Home /News /nation /

'मुंबई में ओमिक्रॉन लहर ढलान की ओर, बाकी भारत में मार्च तक बना रह सकता है असर'

'मुंबई में ओमिक्रॉन लहर ढलान की ओर, बाकी भारत में मार्च तक बना रह सकता है असर'

महाराष्ट्र में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

महाराष्ट्र में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

India Corona Omicron News: देश में सोमवार को 'ओमिक्रॉन' स्वरूप के 8,891 मामले सामने आए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटे में 'ओमिक्रॉन' वेरिएंट के मामलों में 8.31 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है. महामारी विज्ञानी डॉ गिरिधर बाबू ने कहा, "विभिन्न गणितीय मॉडलों के आधार पर, भारत में ओमिक्रॉन लहर जनवरी के अंतिम सप्ताह या फरवरी की शुरुआत तक चलेगी."

अधिक पढ़ें ...

मुंबई. कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन की लहर मुंबई में कम होनी शुरू हो गई है, लेकिन देश के बाकी हिस्सों में महामारी की तीसरी लहर में गिरावट का अनुभव होने में कम-से-कम एक महीने का समय लग सकता है. विशेषज्ञों ने कहा, “महामारी के लिए, कुछ यूरोपीय देशों ने 2020 और 2022 के बीच अब तक कोविड-19 के लगभग पांच लहरों को पंजीकृत किया है और यह जारी रह सकता है, हालांकि यह उतना कमजोर करने वाला नहीं है जितना कि 2020 में था. लेकिन यह भी इस बात पर निर्भर करता है कि कोरोना के वेरिएंट के नए उत्परिवर्तन ना हो.”

देश में सोमवार को ‘ओमिक्रॉन’ स्वरूप के 8,891 मामले सामने आए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटे में ‘ओमिक्रॉन’ वेरिएंट के मामलों में 8.31 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है. ओमिक्रॉन के सर्वाधिक मामले महाराष्ट्र में ही दर्ज किए गए हैं, जबकि दूसरे नंबर पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली का नाम आता है.

‘अगले 14 दिन भारत के लिए बेहद अहम’
महामारी विज्ञानी डॉ गिरिधर बाबू ने कहा, “विभिन्न गणितीय मॉडलों के आधार पर, भारत में ओमिक्रॉन लहर जनवरी के अंतिम सप्ताह या फरवरी की शुरुआत तक चलेगी.” ओमिक्रॉन लहर आमतौर पर चरम तक पहुंचने में तीन सप्ताह का समय लेती है और ऐसा करने में यह डेल्टा लहर की तुलना में लगभग तीन गुना तेज होती है. उन्होंने कहा, “अगले दो सप्ताह पूरे भारत के लिए बेहद अहम हैं.”

पॉक्सो कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, 90 दिनों में 3 साल की बच्ची से रेप के बाद हत्या के दोषी को फांसी की सजा

हालांकि, देश में मुंबई और दिल्ली जैसे इलाके हैं जहां दिसंबर के अंत में खतरा ध्यान देने योग्य था और लहर पहले ही चरम पर थी. संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ ओम श्रीवास्तव ने कहा, “जब तक यह लहर स्थिर और घटती है, तब तक संभव है कि मार्च का महीना आ चुका होगा.”

दिल्ली, महाराष्ट्र जैसे क्षेत्रों में जारी रह सकती है छोटी लहर
लोकप्रिय सिद्धांत यह है कि महामारी इस वर्ष किसी समय “स्थानिक” वायरल संक्रमण में तब्दील हो सकती है और स्थानीयकृत व छोटी लहर का सामना करना पड़ सकता है. द टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक डॉ श्रीवास्तव ने कहा, “भारत में, हम छोटे पॉकेट्स को लगातार मामलों की रिपोर्टिंग करते हुए देख सकते हैं. उदाहरण के लिए, दिल्ली, महाराष्ट्र, केरल और छत्तीसगढ़ में छोटी लहरें जारी रह सकती हैं, जो उम्मीद के मुताबिक स्थानीय होंगी.”

चिंता का कोई नया वेरिएंट नहीं आता है, तो…
भारत में महाराष्ट्र के कोविड-19 टास्क फोर्स के सदस्य डॉ शशांक जोशी ने कहा कि अगर मार्च और अप्रैल के बाद चिंता का कोई नया वेरिएंट नहीं आता है, तो महामारी के कम होने की संभावना है. उन्होंने कहा, “हम मार्च या अप्रैल के बाद छोटे या हल्के प्रकोप के साथ एक संकट मुक्त दुनिया की उम्मीद कर सकते हैं.”

कोरोना महामारी के खत्म होने पर क्या है एक्सपर्ट की राय
लेकिन क्या महामारी खत्म होगी? डॉ जोशी ने कहा कि हम वायरस को पूरी तरह से तभी हरा सकेंगे, जबकि पृथ्वी पर सभी 7 अरब लोगों का टीकाकरण कर लेंगे. अमेरिकी वायरोलॉजिस्ट डॉ कुतुब महमूद ने रविवार को कहा कि यह जल्द ही खत्म हो जाएगा.

उन्होंने कहा, “यह हमेशा के लिए नहीं चल सकता है, और वह अंत बहुत जल्द है. मैं कहूंगा कि शतरंज के इस खेल में कोई विजेता नहीं है, यह एक ड्रॉ होने जा रहा है, जहां वायरस छिप जाएगा और हम जीत जाएंगे, हम अपने फेसमास्क के पीछे छिपकर बाहर आ सकते हैं. इसलिए, हम आगे बढ़ने की उम्मीद करते हैं, मुझे लगता है कि हम उसके बहुत करीब पहुंच रहे हैं.”

Tags: Coronavirus, Coronavirus latest news, Coronavirus news, Maharashtra, Omicron variant

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर