पीएम मोदी की पहल पर सरकार ने बनायी फेक न्यूज पकड़ने वाली टीम

पीएम मोदी की पहल पर सरकार ने बनायी फेक न्यूज पकड़ने वाली टीम
CAA पर PIB की यह टीम मिथ बर्स्ट किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की पहल पर पत्र सूचना कार्यालय (Press Information Bureau) ने फैक्ट चेक करने के लिए एक टीम का गठन किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2020, 1:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सीएए यानि सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट (CAA) को लेकर देश भर में धरने प्रदर्शन का दौर चल रहा था तब आनन फानन में केंद्र सरकार का पत्र सूचना कार्यालय (PIB) हरकत में आया. उनके युवाओं की टीम हरकत में आयी. चंद घंटों में ही ये टीम सोशल मीडिया से लेकर मीडिया तक में नजर आने लगी जब सीएए को लेकर चल रही अफवाहों और उनके पीछे की सच्चाई को लेकर सरकार और बीजेपी मैदान में कूद पड़ी. कुछ इसी तर्ज पर सीएए के पास होने के चंद घंटे पहले सोशल मीडिया पर एक और फेक न्यूज वायरल हुई कि इंटरनेट को अगले 48 घंटे के लिए बैन किया जा रहा है लेकिन यह बात आनन फानन में ही इस टीम ने पकड़ ली और इसका सरकारी जवाब भी सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. ऐसे ही सोशल मीडिया पर डिटेंशन सेंटर को लेकर बवाल हुआ तो इस टीम ने तथ्यों की जानकारी लेकर बताया कि ये अमेरिका की तस्वीर है जिसे भारत-बांगलादेश बार्डर का बताया जा रहा था. इसलिए इस टीम को मिथ बस्टर्स का नाम दिया गया है.

फेक न्यूज को लेकर सरकार ने सोशल मीडिया पर शिकंजा कसना शुरु किया लेकिन मामला फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन का था लिहाजा पूरी तरह से बैन करना संभव भी नहीं था. इसलिए पीएम मोदी ने सरकार के स्तर पर ही सलाह दी कि मोदी सरकार की नीतियों और मंत्रालयों के खिलाफ फेक न्यूज चले तो उसको काउंटर करने के लिए अपनी ही टीम बनायी जाए. इसका नतीजा ये हुआ की प्रेस सूचना कार्यालय ने युवाओं की एक छोटी टीम का गठन कर काम शुरू भी कर दिया.

बनाया गया है ट्विटर हैंडल और व्हाट्सऐप का नंबर भी दिया
@PIBfactcheck का नाम से एक ट्विटर हैंडल बनाया गया है जिसका काम है सरकार के खिलाफ चल रही गलत जानकारियों के खिलाफ सच्चाई सामने लाना. एक आम आदमी को भी सरकार से संबंधित किसी भी खबर में कोई संशय नजर आता है तो वो उन्हें सीधा 8799711259 या फिर pibfactcheck@gmail.com संदेश भेज कर अपनी सही जानकारी प्राप्त कर सकता है. वो सरकार को बता भी सकता है कि फलां खबर गलत तरीके से पेश की जा रही है.
इस टीम में तीन युवा भारतीय सूचना सेवा के अधिकारी हैं और उनके साथ ही युवा प्रोफेशनल्स की एक टीम लगी है. इस टीम का काम ही यही है कि सरकार के खिलाफ चल रहे फोटो शॉप और गलत विडियो का पर्दाफाश करना. अगर मंत्रालय से संबंधित गलत खबरें चल रही हों तो वो उस मंत्रालय से सही सूचना मांग कर जल्दी से जल्दी उसकी सच्चाई बताने में लग जाते हैं. यहीं नहीं ये लोग लगातार सोशल मीडिया कि मॉनिटरिंग में भी लगे रहते हैं ताकि वायरल खबरें शुरुआत में ही थामी जा सकें.



यह भी पढ़ें :-

CAA: मुस्लिम-दलित गठजोड़ तोड़ने की कोशिश में जुटे बीजेपी और संघ!
CAA Protest: विरोध में उतरे ट्रांसजेंडर, मंडी हाउस से जंतर-मंतर तक निकाली रैली
अमित शाह का कांग्रेस पर निशाना, कहा- CAA के खिलाफ ज्यादातर प्रदर्शन राजनीतिक
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज