Home /News /nation /

आसमान से धरती की ओर आ रहा है एफिल टावर से भी बड़ा एस्टेरॉयड, नासा ने जारी की चेतावनी

आसमान से धरती की ओर आ रहा है एफिल टावर से भी बड़ा एस्टेरॉयड, नासा ने जारी की चेतावनी

क्षुद्रग्रह 4660 नारियस पहली बार 1982 में खोजा गया था.

क्षुद्रग्रह 4660 नारियस पहली बार 1982 में खोजा गया था.

NASA ने बताया कि 4660 Nereus क्षुद्रग्रह का व्यास 330 मीटर से ज्यादा है. यह एस्टेरॉयड करीब 39 लाख किलोमीटर की दूरी से पृथ्वी के पास से गुजरेगा. यह हमारे ग्रह के लिए तत्काल कोई खतरा नहीं है. 4660 नारियस की कुल तीव्रता 18.4 है.

    नई दिल्ली. आसमान से एक बड़ी आपदा तेजी से धरती पर आ रही है. तबाही 4660 नारियस नाम का एक एस्टेरॉयड है, जो फ्रांस के एफिल टॉवर से भी बड़ा है. इस सप्ताह के अंत तक एस्टेरॉयड के पृथ्वी के बहुत करीब पहुंचने की उम्मीद है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने भी संभावित खतरनाक एस्टेरॉयड की पहचान की है. नासा का कहना है कि एस्टेरॉयड के 11 दिसंबर को पृथ्वी की कक्षा से गुजरने की उम्मीद है.

    हालांकि, यह पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश नहीं करेगा. NASA ने बताया कि 4660 Nereus क्षुद्रग्रह का व्यास 330 मीटर से ज्यादा है. यह एस्टेरॉयड करीब 39 लाख किलोमीटर की दूरी से पृथ्वी के पास से गुजरेगा. यह हमारे ग्रह के लिए तत्काल कोई खतरा नहीं है. 4660 नारियस की कुल तीव्रता 18.4 है. नासा ने 22 से कम के क्षुद्रग्रहों को संभावित खतरनाक के रूप में वर्गीकृत किया है.

    क्षुद्रग्रह 4660 नारियस पहली बार 1982 में खोजा गया था. यह क्षुद्रग्रह इसलिए विशेष नहीं है क्योंकि यह खतरनाक है, बल्कि इसलिए कि यह सापेक्ष आवृत्ति के साथ पृथ्वी के करीब से गुजरता है. सूर्य के चारों ओर इसकी 1.82 साल की कक्षा लगभग हर 10 साल में इसे हमारे करीब लाती है. हालांकि, खगोलीय दृष्टिकोण से, ‘करीब’ होना एक सुरक्षित दूरी है. नासा और जापानी अंतरिक्ष एजेंसी JAXA 1982 से इसकी निगरानी कर रहे हैं.क्षुद्रग्रह 4660 नारियस करीब चार मील प्रति सेकेंड की रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है.

    ये भी पढ़ेंः- अल्ट्रासाउंड के दौरान भ्रूण की पोजिशन देख रहे थे डॉक्टर्स, तभी दिखा हैरान करने वाला विचित्र नजारा

    नासा ने इसे खतरनाक रेंज में रखा है. हालांकि, यह क्षुद्रग्रह पृथ्वी से 3.93 मिलियन किलोमीटर की दूरी से गुजरेगा. यह पृथ्वी से चंद्रमा की दूरी का करीब 10 गुना है, हालांकि नासा ने इसे खतरा बताया है. गौरतलब है कि क्षुद्र ग्रह वे चट्टानें हैं जो किसी ग्रह की तरह सूर्य की परिक्रमा करती हैं, लेकिन आकार में ग्रहों से काफी छोटी होती हैं.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर