आंगनवाड़ियों में करीब एक करोड़ फर्जी लाभार्थी पाए गए: मेनका गांधी

पिछले महीने मेनका गांधी ने कहा था कि असम की पंजीकृत आंगनवाड़ियों में करीब 14 लाख बच्चों के नाम फर्जी पाए गए.

भाषा
Updated: September 11, 2018, 7:53 PM IST
आंगनवाड़ियों में करीब एक करोड़ फर्जी लाभार्थी पाए गए: मेनका गांधी
मेनका गांधी (फाइल फोटो)
भाषा
Updated: September 11, 2018, 7:53 PM IST
केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने मंगलवार को कहा कि देश भर की पंजीकृत आंगनवाड़ियों में करीब एक करोड़ फर्जी लाभार्थियों का पता चला और उनके नाम सूची से हटा दिए गए हैं. देश भर में करीब 14 लाख आंगनवाड़ियां और 10 करोड़ लाभार्थी हैं.

मेनका ने कहा कि फर्जी लाभार्थियों की पहचान करना और उनका नाम हटाना अनवरत चलने वाली प्रक्रिया है और अब तक करीब एक करोड़ फर्जी लाभार्थियों का पता चला है और इनके नाम सूची से हटाए गए हैं.

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मंत्रालय एक करोड़ फर्जी लाभार्थियों का ब्यौरा एकत्र कर रहा है. पिछले महीने मेनका गांधी ने कहा था कि असम की पंजीकृत आंगनवाड़ियों में करीब 14 लाख बच्चों के नाम फर्जी पाए गए.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को देशभर की आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से नरेन्द्र मोदी एप और वीडियो लिंक के माध्यम से बात की. उन्‍होंने इस दौरान बताया कि सरकार ने उनके मानदेय में आशाकर्मियों की प्रोत्साहन राशि बढ़ाकर दुगुना करने और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 3000 रुपये से बढ़ा कर 4500 रुपये करने का फैसला किया है.

प्रधानमंत्री ने बताया कि जिन आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 2250 रुपए था, उन्हें अब 3500 रुपए मिलेगा. आंगनवाड़ी सहायिकाओं को 1500 रुपए के स्थान पर 2250 रुपए मिलेंगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर