PM केयर्स फंड से 1.5 लाख ऑक्सीकेयर सिस्टम खरीद को मंजूरी, DRDO ने बनाया

इस सिस्टम को डीआडीओ ने तैयार किया है. (तस्वीर-DRDO_India
)

इस सिस्टम को डीआडीओ ने तैयार किया है. (तस्वीर-DRDO_India )

इस सिस्टम को DRDO द्वारा तैयार किया गया है. डीआरडीओ ने अपनी तकनीक देश की कई कंपनियों को ट्रांसफर की हैं जो इस ऑक्सीकेयर सिस्टम को तैयार करेंगी. पीएम केयर्स के जरिए ये खरीद 322 करोड़ रुपए में की गई है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना मरीजों की ऑक्सजीन संबंधी दिक्कतों (Medical Oxygen Problems) के स्थाई समाधान के लिए केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है. पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund) के जरिए केंद्र सरकार डेढ़ लाख ऑक्सीकेयर सिस्टम (Oxycare System) की खरीद करेगी. इस सिस्टम को DRDO द्वारा तैयार किया गया है. डीआरडीओ ने अपनी तकनीक देश की कई कंपनियों को ट्रांसफर की हैं जो इस ऑक्सीकेयर सिस्टम को तैयार करेंगी. पीएम केयर्स के जरिए ये खरीद 322 करोड़ रुपए में की गई है.

ऑक्सीकेयर सिस्टम के जरिए हेल्थकेयर प्रोवाइडर्स पर बोझ को भी कम किया जा सकेगा क्योंकि इसमें रूटीन ऑक्सीजन फ्लो चेक की जरूरत नहीं होगी. इसे घरों, क्वारंटाइन सेंटर्स, कोविड केयर सेंटर्स और अस्पतालों में इस्तेमाल किया जा सकेगा. इस सिस्टम के साथ नॉन-रिब्रिदर मास्क (NRM) भी जुड़े हुए होंगे जिससे ऑक्सीजन की खपत भी 30-40 प्रतिशत कम होगी. ये मास्क विशेष रूप से मरीजों के शरीर मे ऑक्सीजन सप्लाई बेहतर रूप से पहुंचाने का काम करेंगे.

Youtube Video

500 ऑक्सीजन प्लांट की खरीद भी गई
इससे पहले पीएम केयर्स फंड के जरिए डीआरडीओ की तकनीक पर आधारित 500 ऑक्सीजन प्लांट की खरीद की गई थी. DRDO द्वारा LCA, तेजस में ऑन बोर्ड ऑक्सीजन जनरेशन के लिए विकसित की गई मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट (एमओपी) तकनीक अब कोविड​​-19 रोगियों के लिए ऑक्सीजन से जुड़े वर्तमान संकट से लड़ने में मदद करेगी.

ये ऑक्सीजन संयंत्र 1,000 लीटर प्रति मिनट (एलपीएम) की क्षमता के लिए बनाया गया है. ये प्रणाली पांच एलपीएम की प्रवाह दर पर 190 रोगियों की जरूरत को पूरा कर सकती है और प्रति दिन 195 सिलेंडर चार्ज कर सकती है. मैसर्स टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स लिमिटेड, बेंगलुरु और मैसर्स ट्राइडेंट न्यूमेटिक्स प्राइवेट लिमिटेड, कोयंबटूर को प्रौद्योगिकी का हस्तांतरण किया गया है, दोनों देश के विभिन्न अस्पतालों में स्थापना के लिए 380 संयंत्रों का उत्पादन करेंगे. सीएसआईआर से संबंधित भारतीय पेट्रोलियम संस्थान, देहरादून के साथ काम करने वाले उद्योग 500 एलपीएम क्षमता के 120 संयंत्रों का उत्पादन करेंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज