अपना शहर चुनें

States

निवार के बाद तमिलनाडु पर मंडराया एक और चक्रवाती तूफान का खतरा, तेज हवाओं के साथ होगी बारिश

तमिलनाडु में पिछले सप्ताह अत्यंत गंभीर चक्रवाती तूफान ‘निवार’ आया था.
तमिलनाडु में पिछले सप्ताह अत्यंत गंभीर चक्रवाती तूफान ‘निवार’ आया था.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) (आईएमडी) के चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने मंगलवार को बताया कि बंगाल की खाड़ी में उच्च दबाव के मंगलवार देर रात चक्रवाती तूफान के रूप में बदलने की संभावना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2020, 7:17 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. चक्रवाती तूफान के बाद तमिलनाडु (Tamil Nadu) में एक और चक्रवात (Cyclone) के आने की संभावना जताई जा रही है. आईएमडी का कहना है कि तमिलनाडु में चार दिसंबर को एक चक्रवात के आने की प्रबल संभावना है. यह एक सप्ताह में राज्य में आने वाला दूसरा चक्रवात होगा. भारत मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) (आईएमडी) के चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने मंगलवार को बताया कि बंगाल की खाड़ी में उच्च दबाव के मंगलवार देर रात चक्रवाती तूफान के रूप में बदलने की संभावना है.

आईएमडी के मुताबिक, इसके चक्रवाती तूफान के रूप में दो दिसंबर की शाम या रात को त्रिंकोमाली के निकट श्रीलंका तट से गुजरने का पूर्वानुमान है और इस दौरान 75 से 85 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी. विभाग ने आशंका जताई है कि इसके कारण तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल, माहे, लक्ष्यद्वीप, आंध्र प्रदेश में भारी बारिश हो सकती है.

4 दिसंबर को कन्याकुमारी तट से गुजरेगा चक्रवात
चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने कहा, ‘‘इसके बाद इसके पश्चिम की ओर बढ़ने और तीन दिसंबर की सुबह मन्नार की खाड़ी और निकटवर्ती कोमोरिन इलाके में पहुंचने की संभावना है. इसके बाद यह संभवत: पश्चिम-दक्षिण-पश्चिम की ओर बढ़ेगा और चार दिसंबर की सुबह कन्याकुमारी और पम्बन के बीच दक्षिण तमिलनाडु के तट से गुजरेगा.’’तमिलनाडु में पिछले सप्ताह अत्यंत गंभीर चक्रवाती तूफान ‘निवार’ आया था.



मछुआरों को प्रशासनिक अधिकारियों ने किया अलर्ट
भारतीय मौसम विभाग द्वारा जारी किए गए अलर्ट के बाद स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों ने मछुआरों को अलर्ट कर दिया है. दिसंबर की रात से ही हवाओं की रफ्तार तेज होने का अनुमान है. इस दौरान हवाओं की स्पीड बहुत तेज हो सकती है, जिसके कारण मछुआरों को समुद्री तटों पर न जानें की सलाह दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज