Assembly Banner 2021

Covid-19: केवल इन 5 राज्यों से रोज मिल रहे हैं 80% कोविड मामले, महाराष्ट्र में हालात भयानक

Coronavirus in India: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि महाराष्ट्र (Maharashtra), पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और छत्तीसगढ़ मिलाकर रोज मिलने वाले 80.63 फीसदी मामलों के जिम्मेदार हैं. राज्य सरकारों ने स्थिति को काबू करने के लिए कड़े कदम उठाए हैं.

Coronavirus in India: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि महाराष्ट्र (Maharashtra), पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और छत्तीसगढ़ मिलाकर रोज मिलने वाले 80.63 फीसदी मामलों के जिम्मेदार हैं. राज्य सरकारों ने स्थिति को काबू करने के लिए कड़े कदम उठाए हैं.

Coronavirus in India: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि महाराष्ट्र (Maharashtra), पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और छत्तीसगढ़ मिलाकर रोज मिलने वाले 80.63 फीसदी मामलों के जिम्मेदार हैं. राज्य सरकारों ने स्थिति को काबू करने के लिए कड़े कदम उठाए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2021, 5:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों में इजाफा जारी है. लेकिन इस दौरान पांच राज्यों- महाराष्ट्र, पंजाब (Punjab), कर्नाटक (Karnataka), गुजरात (Gujarat) और छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) ने खासी चिंता बढ़ाई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी है कि देश के 80.63 फीसदी नए मामले केवल इन पांच राज्यों से ही आ रहे हैं. खास बात है कि राज्य सरकारों ने कोविड स्थिति को देखते हुए कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. महाराष्ट्र के कई जिलों में नाइट कर्फ्यू और वीकेंड्स लॉकडाउन (Lockdown) जारी है. हाल ही में पंजाब ने भी पाबंदियों की घोषणा कर दी है.

मंत्रालय की तरफ से जारी बयान के अनुसार, 'देश में कुछ राज्यों में कोविड-19 मामलों में बढ़त देखी जा रही है. महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और छत्तीसगढ़ मिलाकर रोज मिलने वाले 80.63 फीसदी मामलों के जिम्मेदार हैं.' महाराष्ट्र में मामलों में तेजी से इजाफा हुआ है. राज्य में एक दिन में 25 हजार 833 मामले आए हैं. पंजाब में यह आंकड़ा 2 हजार 269 है. जबकि, केरल में 1 हजार 899 केस दर्ज किए गए.

मंत्रालय के बयान के अनुसार, केंद्र लगातार राज्य केंद्र शासित प्रदेशों का साथ मिलकर काम कर रहा है. इसके अलावा सरकार इन क्षेत्रों में कंटेनमेंट और स्वास्थ्य उपायों के हालात की समीक्षा भी कर रही है. राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को ऐसे जिलों में टेस्टिंग स्तर सुधारने के लिए कहा गया है, जहां जांच कम हो रही हैं. इसके अलावा मंत्रालय ने राज्यों को पॉजिटिव मामले के कम के कम 20 लोगों तक कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग करने की सलाह दी है.



यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में कोरोना: पाबंदियां बढ़ीं, प्राइवेट ऑफिस में 50% कर्मचारियों के साथ ही काम
नए स्ट्रेन को लेकर सरकार सतर्क
केंद्र नए स्ट्रेन्स को लेकर भी सतर्क है. सरकार ने राज्यों को जीनोम टेस्टिंग के लिए सैंपल भेजने की भी जानकारी रखने के लिए कहा है. इसके अलावा सरकार की तरफ से राज्यों को वैक्सीन प्रक्रिया भी तेज करने के लिए कहा गया है. हाल ही में सरकार ने महाराष्ट्र और पंजाब में कोविड के नियंत्रण और कंटेनमेंट उपायों में मदद करने के लिए हाईलेवल टीम तैनात की थी. इससे पहले भी सरकार मदद के लिए केरल, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और जम्मू-कश्मीर भी टीमें भेज चुकी है.

एक्टिव मामलों में इन राज्यों के आंकड़े डराने वाले हैं. समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, देश के 76.48 फीसदी एक्टिव मामले केवल महाराष्ट्र, केरल और पंजाब में हैं. हालांकि, अच्छी खबर यह है कि 16 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे हैं जहां बीते 24 घंटों में कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है. इनमें आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, उत्तराखंड, झारखंड, लक्ष्यद्वीप और सिक्किम का नाम शामिल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज