Corona Vaccination registration: कोविड वैक्सीन के लिए 18+ लोगों को कराना होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

1 मई से 18 साल से ऊपर वालों के लिए कोरोना टीका लगना शुरू होगा. फाइल फोटो)

1 मई से 18 साल से ऊपर वालों के लिए कोरोना टीका लगना शुरू होगा. फाइल फोटो)

Vaccination registration for Above 18: कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) को खराब होने से बचाने के लिए सरकार ने प्राइवेट अस्‍पतालों (Private Hospital) में ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन के साथ अस्‍पताल पहुंचने वालों को वैक्‍सीन लगाने की छूट दे दी है. सरकार की कोशिश है कि ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को वैक्‍सीन लगाई जाए और उसकी बर्बादी रोकी जा सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 8:37 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) प्रोग्राम के तीसरे चरण के तहत 1 मई से 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्‍सीन (Vaccine) की डोज देने की शुरुआत होगी. टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण से पहले कोरोना वैक्‍सीन की कीमत को लेकर हंगामा मचा हुआ है. कोरोना वैक्‍सीन पर नियंत्रण रखने के लिए केंद्र सरकार (Central Government) ने निजी अस्‍पतालों (Private Hospital) के लिए कई निर्देश जारी किए हैं. केंद्र ने राज्‍य सरकारों को बताया है कि कोरोना वैक्‍सीन उन्‍हीं प्राइवेट अस्‍पतालों को दी जाएगी, जो ऑनलाइन बुकिंग करेंगे.

कोरोना वैक्‍सीन को खराब होने से बचाने के लिए सरकार ने प्राइवेट अस्‍पतालों में ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन के साथ अस्‍पताल पहुंचने वालों को वैक्‍सीन लगाने की छूट दे दी है. सरकार की कोशिश है कि ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को वैक्‍सीन लगाई जाए और उसकी बर्बादी रोकी जा सके. कोरोना वैक्‍सीन के दाम को लेकर मचे हंगामे के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बताया कि खुले बाजार में कोरोना वैक्‍सीन की पहुंच मात्र 50 प्रतिशत होगी. डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि मांग और सप्‍लाई के हिसाब से वैक्‍सीन के दाम को कम किया जा सकता है.



इससे पहले, टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण में नीतिगत बदलावों की घोषणा करते हुए, केंद्र ने कहा था कि कोरोना वैक्‍सीन के निर्माता वैक्‍सीन के दाम को लेकर पारदर्शी हों और राज्‍यों को अनिवार्य रूप से 50% कोरोना वैक्‍सीन की आपूर्ति करें.
इसे भी पढ़ें :- कोरोनाः भारत बायोटेक ने भी तय किए कोवैक्सीन के दाम, जानें किसे कितने में मिलेगा टीका

राज्‍य अब निर्माताओं से सीधे खरीद सकते हैं वैक्‍सीन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, कोरोना वैक्‍सीन की नई नीति के तहत राज्‍य अब कोरोना वैक्‍सीन निर्माताओं से सीधे वैक्‍सीन खरीद सकते हैं. यहां तक कि वॉल्यूम के आधार पर कीमतों पर बातचीत करने के लिए भी वह पूरी तरह से स्वतंत्रत हैं.



इसे भी पढ़ें :- ऑक्सीजन पर केंद्र का बड़ा फैसला, सिर्फ मेडिकल यूज की अनुमति, उत्पादन बढ़ाने का भी निर्देश

राज्‍यों को 400 और प्राइवेट अस्‍पतालों को 600 में मिलेगी वैक्‍सीन

बता दें कि भारत बायोटेक ने कोवैक्सीन को प्राइवेट अस्पतालों के लिए 1200 रुपये प्रति डोज में बेचने का ऐलान किया है, राज्य सरकार के अस्पतालों को वैक्सीन 600 रुपये प्रति डोज में दी जाएगी. यानी वैक्सीन की पूरी खुराक के लिए 2400 और 1200 रुपये क्रमशः देने होंगे. बता दें कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के कोविशील्ड वैक्सीन को राज्य सरकारों को 400 और प्राइवेट अस्पतालों को 600 में बेचने का फैसला किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज