Assembly Banner 2021

भारतीय तटरक्षक बल का ऑपरेशन, मछली पकड़ने वाली नाव से पकड़ी 3 हजार करोड़ की ड्रग्स


पिछले एक साल में कुल 1.6 टन नारकोटिक्स कोस्टगार्ड ने पकड़ी थी, जिसकी कीमत 4900 करोड़ रूपये से ज्यादा है.

पिछले एक साल में कुल 1.6 टन नारकोटिक्स कोस्टगार्ड ने पकड़ी थी, जिसकी कीमत 4900 करोड़ रूपये से ज्यादा है.

कोस्टगार्ड शिप और विमानों ने पूरे इलाके की गहन छानबीन शुरू कर दी और 18 मार्च को उन संदिग्ध बोट को क़ब्जे में लिया गया. ये सभी ड्रग और हथियार श्रीलंका की मछली पकड़ने वाली 3 नाव से बरामद की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 12:21 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 26/11 को मुम्बई में हुए हमले के बाद तटीय सुरक्षा को लेकर कई सवाल खड़े हुए और इस हमले से सबक़ लेते हुए भारतीय कोस्टगार्ड ने अपन कमर कस ली थी. इसी का नतीजा है कि किसी भी तरह की घटना को अंजाम देने की कोशिश तक आतंकी बच रहे है. अपने समुद्री इलाकों की निगरानी इस क़दर की जा रही है कि एक भी संदिग्ध बोट को भारतीय इलाके से गुज़रने नहीं दिया जा रहा है.

इसी के मद्देनज़र भारतीय तटरक्षक बल ने एक ऑपरेशन में 3 हज़ार करोड़ रूपये की 300 किलो हेरोइन पकड़ी. ड्रग के साथ-साथ पांच Ak-47 रायफल और 1000 राउंड गोलिया भी बरामद की गई है. भारतीय कोस्टगार्ड के डायरेक्टर जनरल कृष्णास्वामी नटराजन ने कहा कि कोस्टगार्ड हर छोटे बड़े इनपुट को बड़ी गंभीरता से लेता है और जैसे ही इन संदिग्ध बोट के बारे में जानकारी मिली तो तुरंत कार्वाई शुरू की गई.

18 मार्च को कब्जे में लिए गए बोट
कोस्टगार्ड शिप और विमानों ने पूरे इलाके की गहन छानबीन शुरू कर दी और 18 मार्च को उन संदिग्ध बोट को क़ब्जे में लिया गया. ये सभी ड्रग और हथियार श्रीलंका की मछली पकड़ने वाली 3 नाव से बरामद की गई है. दरअसल 15 मार्च को इंटेलीजेंस इनपुट मिला था कि अरब सागर में कुछ संदिग्ध बोट गुज़र रही है, इसी जानकारी के आधार पर कोस्टगार्ड ने ऑपरेशन लॉन्च किया. लगातार कोस्टगार्ड अपने जहाज़ों और विमानों की मदद से सघन तलाशी का काम शुरू किया गया. आखिरकार लक्षद्वीप के 18 मार्च को कोस्टगार्ड ने मिनिकॉय द्वीप के पास 3 संदिग्ध नाव को देखा और उसे अपने क़ब्ज़े में लेकर पूछताछ की.
Youtube Video




ये भी पढ़ेंः- कोरोना से मुंबई में बिगड़ रहे हालात, क्या लगेगा लॉकडाउन? मेयर ने दिए बड़े संकेत

19 लोगों को लिया गया हिरासत में
तीनों नाव की तलाशी में में श्रीलंका की मछली पकड़ने वाली नौका जिसका नाम रविहंसी से ड्रग की बडी खेप और हथियार बरामद हुए. कुल मिलाकर नाव में 19 लोगो को हिरासत में लिया गया और उनसे पूछताछ जारी है. यह कोई पहला मामला नहीं है जब ड्रग की इतनी बड़ी खेप पकड़ी गई है इससे पहले 5 मार्च को एक ऑपरेशन में एक श्रीलंका की बोट को पकड़ा था, जिसमें 200 किलो हाई ग्रेड हेरोइन और 60 किलो हशीश बरामद की गई थी. इसी तरह से एंटी ड्रग ट्रेफिकिंग ऑपरेशन में नवंबर 2020 में भी कन्याकुमारी के पास श्रीलंका की बोट से 1000 करोड़ रूपये की 120 किलो नारकोटिक्स पकड़ी थी. कुल मिलाकर पिछले एक साल में 1.6 टन नारकोटिक्स कोस्टगार्ड ने पकड़ी जिसकी कीमत 4900 करोड़ रूपये से ज्यादा है.

बहरहाल कोस्टगार्ड ने अपने सर्वेलांस को ज़बरदस्त तरीके से बढ़ाया और हर एक इंपुट को गंभीरता से लेते हुए अपने उस पर तुरंत कार्रवाई कर रही है, जिसका नतीजा है कि पिछले साल भर में कोस्ट गार्ड ने ड्रग की तस्करी करने वालो को ज़बरदस्त चोट पहुंचाई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज