Home /News /nation /

opinion international conspiracy to disturb indias communal harmony exposed

Opinion: भारत का सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की अंतरराष्ट्रीय साजिश का पर्दाफाश

अंतरराष्‍ट्रीय साजिश पाकिस्‍तान से हो रही थी.   (प्रतीकात्मक फोटो)

अंतरराष्‍ट्रीय साजिश पाकिस्‍तान से हो रही थी. (प्रतीकात्मक फोटो)

पिछले कुछ दिनों से लगातार हैशटैग ‘IndianMuslimsunderattack’ के नाम से भारत में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिशें चल रहीं थीं. सूत्रों के मुताबिक इन ट्विटर हैंडलों में से ज्यादातर पाकिस्तान के थे. साथ ही तुर्की और अफगानिस्तान के भी कई ट्विटर हैंडल इसी हैश टैग पर ट्वीट कर रहे थे.

अधिक पढ़ें ...

पिछले कुछ दिनों से लगातार हैशटैग ‘IndianMuslimsunderattack’ के नाम से भारत में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिशें चल रहीं थीं. एजेंडा ये दिखाने का था कि भारत में अल्पसंख्यक सुरक्षित नहीं हैं. सूत्रों के मुताबिक सरकार ने इस बाबत छानबीन भी की. सूत्र बताते हैं कि ये पाया गया कि ऐसे हजारों ट्वीट पाकिस्तान और अफगानिस्तान से हो रहे थे. इन ट्वीट्स को हैशटैग ‘IndianMuslimsunderattack’  के साथ ट्वीट किया जा रहा था. हैरत की बात ये कि इनमें से  ज्यादातर ट्विटर अकाउंट भारत के नहीं थे. सूत्रों के मुताबिक इन ट्विटर हैंडलों में से ज्यादातर पाकिस्तान के थे. साथ ही तुर्की और अफगानिस्तान के भी कई ट्विटर हैंडल इसी हैश टैग पर ट्वीट कर रहे थे. ये साफ हो गया कि पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है और भारत के खिलाफ गलत बातें फैलाने के काम में अपना पूरा तंत्र लगा दिया है. जांच में ये भी पाया गया कि तुर्की के ट्विटर अकाउंट से ऐसी ही बातें सामने आ रहीं थी.

इसलिए ये साफ हो गया है कि भारत के खिलाफ एक अंतरराष्ट्रीय साजिश चल रही है. सरकारी सूत्रों के मुताबिक अब इनका ट्विटर अकाउंटों का पर्दाफाश हो गया है.  तमाम अथॉरिटीज और ट्विटर को इन अकाउंटों द्वारा नफरत फैलाने और भारत के खिलाफ गलत प्रोपेगैंडा करने की शिकायत कर दी गयी है. भारत ने पाकिस्तान और तुर्की में बैठे ऐसे कई हैंडलों और अकाउंट की लिस्ट भी तैयार कर ली है. इसलिए ये अकाउंट ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा सके और ना ही उनका झूठ से भरा प्रोपोगेंडा सफल हो पाया.

इसके पहले 5 अप्रैल को भारत के सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेशी संबंधों और सार्वजनिक व्यवस्था से संबंधित दुष्प्रचार फैलाने के लिए 22 यूट्यूब चैनलों को ब्लॉक कर दिया था. आईटी अधिनियम 2021 के तहत पहली बार 18 भारतीय यू ट्यूब समाचार चैनल ब्लॉक किए गए थे. ब्लॉक किए गए इन 22 में से 4 यू ट्यूब चैनल पाकिस्तान के थे. इनके साथ ही 3 ट्विटर अकाउंट, 1 फेस बुक अकाउंट और 1 न्‍यूज वेबसाइट को भी ब्लॉक किया गया. सरकार ने आरोप लगाया था कि इन चैनलों ने दर्शकों को गुमराह करने के लिए टीवी समाचार चैनलों के लोगो और झूठे थंबनेल का इस्तेमाल किया. कई चैनलों में तो ये पाया गया कि भारत विरोधी फेक न्यूज की शुरुआत पाकिस्तान से ही हो रही है. इसके पहले भी दिसंबर 2021 में मंत्रालय ने 78 यू ट्यूब चैनल ब्लॉक कर दिए थे.

(डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं. लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सत्यता/सटीकता के प्रति लेखक स्वयं जवाबदेह है. इसके लिए News18Hindi किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं है)

Tags: Conspiracy, Hashtags, Twitter

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर