Assembly Banner 2021

OPINION: मोदी सरकार के राहत पैकेज के प्रचार और प्रसार में सत्ता और संगठन दोनों होंगे सक्रिय

पीएम मोदी

पीएम मोदी

पीएम मोदी के नेतृत्व में पूरी सरकार राहत पैकेज और प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित घर पहुचाने में लगी थी. अब पीएम मोदी ने 20 लाख करोड़ के पैकेज का ऐलान कर दिया है और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पैकेज की परत दर परत खोलनी शुरु कर दी है.

  • Share this:
कोरोना से छिडी जंग में सरकार के काम और योजनाओं के प्रचार और प्रसार को असरदार बनाने की मुहिम शुरु हो गयी है. पीएम मोदी के निर्देशों के बाद बीजेपी में संगठन और सरकार के स्तर पर ये मुहिम शुरु हुई है. दरअसल कोरोना से जंग और लॉकडाउन पर विपक्ष ने सवाल उठाना शुरु कर दिया था जब पीएम मोदी के नेतृत्व में पूरी सरकार राहत पैकेज और प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित घर पहुचाने में लगी थी. अब पीएम मोदी ने 20 लाख करोड़ के पैकेज का ऐलान कर दिया है और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पैकेज की परत दर परत खोलनी शुरु कर दी है. अब जिम्मेदारी सरकार के मंत्रियों और बीजेपी की है कि अब जनता के बीच इसे पुख्ता रुप से पहुंचाया जाए.

सूत्रों के मुताबिक बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने एक बड़ी बैठक बुलायी. बैठक में मोदी सरकार के तमाम वरिष्ठ मंत्री मौजुद थे. सूत्र बताते हैं कि बैठक दो घंटे से ज्यादा चली. बैठक में तय किया गया कि पीएम मोदी और वित्त मंत्री द्वारा ऐलान किए गए तमाम कोरोना राहत पैकेज को देश के हर गरीब और अपने घर लौट रहे अप्रवासी मजदूरों तक पहुंचाने के काम में सत्ता और संगठन दोनो लग जाएं. लेकिन साथ ही होम वर्क इस बात का भी मिल कि विपक्ष के दुष्प्रचार के धार को भी कुंद करने के लिए अब मीडिया से लेकर सोशल मीडिया में भी वरिष्ठ नेता कूदें. टास्क ये भी था कि आम आदमी और दूर गांव में बैठे लोगों तक ये संदेश भी पहुंचाना है कि मोदी सरकार ने उनके हित में क्या क्या फैसले लिए हैं.

ये भी पढ़ें: कोरोना संकट पर PM मोदी ने बिल गेट्स से की बात, वैक्सीन को लेकर भी हुई चर्चा



इस बैठक में कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद, रेल मंत्री पियुष गोयल, महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी समेत वो तमाम चेहरे थे जिन पर जनता भरोसा करती है और पार्टी को भी भरोसा है कि ये चेहरे विश्वसनीय हैं जो न सिर्फ विपक्ष पर भारी पडेंगे बल्कि सरकार के पैकेज को भी बैहतर तरीके से समझा पाएंगे. पिछले कुछ दिनों में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, अध्यक्ष सोनिया गांधी, ममता बेनर्जी समेत विपक्ष के तमाम नेताओं ने सरकार पर कोरोना केयर फंड, आरोग्य सेतु, राहत पैकेज को लेकर सीधा हल्ला बोला है. साफ है कि अब बीजेपी आलाकमान को भरोसा है कि इन मंत्रियों के सामने आने से तमाम प्लेटफार्मों पर उनके प्रवक्ता अब विपक्ष के कद्दावर नेताओं पर भारी पड़ते नजर आएंगे.
पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी के तमाम महासचिवों के साथ विडियो कांफ्रेसिंग के जरिए मंथन किया. पिछले एक महीने में नड्डा ने हर राज्य के पदाधिकारियों से मंत्रणा की है और कोरोना से जंग के लिए जरुरी निर्देश भी दिए हैं. पिछले हफ्ते नड्डा ने बीजेपी के देश भऱ के पंचायत प्रमुखों से भी वीसी के जरिए बात की थी. यानि कोरोना से जंग के लिए गांव के स्तर तक कार्यकर्ताओं को सक्रिय कर दिया गया है. मकसद एक ही है कि हर देशवासी को सरकार के अच्छे कामों को बताना और राहत का फायदा कतार में खड़े आखिरी व्यक्ति तक पहुंचाना है.

ये भी पढ़ें: BJP सांसद ने पीएम केयर्स फंड से इस काम के लिए मांगे एक हज़ार करोड़
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज