Home /News /nation /

opinion pm narendra modi inaugurates pm museum family members get emotional

Opinion: पीएम संग्रहालय का पीएम नरेंद्र मोदी ने किया उद्घाटन, परिजन हुए भावुक

राजधानी दिल्ली में नवपनिर्मित प्रधानमंत्री संग्रहालय का उद्घाटन करते पीएम मोदी. (ANI)

राजधानी दिल्ली में नवपनिर्मित प्रधानमंत्री संग्रहालय का उद्घाटन करते पीएम मोदी. (ANI)

शायद किसी राजनेता ने ये कल्पना भी नहीं की होगी कि कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वाले पीएम नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi) तमाम पूर्व पीएम की याद में एक संग्रहालय को मूर्त रूप दे देंगे.

शायद किसी राजनेता ने ये कल्पना भी नहीं की होगी कि कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वाले पीएम नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi)  तमाम पूर्व पीएम की याद में एक संग्रहालय को मूर्त रूप दे देंगे. पीएम मोदी ने इस मौके पर कहा कि सभी ने भारत के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है. पीएम ने इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्रियों के रिश्तेदारों को भी आमंत्रित किया था. लेकिन भावुक हो कर बीजेपी सांसद और पूर्व पीएम चन्द्रशेखर के बेटे नीरज शेखर ने कहा कि आज उनके परिवार के लिए गर्व का क्षण है. पहली बार ऐसा पीएम मिला है जो सही मायने में एक विशाल व्यक्तित्व का है और पार्टी लाइन से हट कर सोचता है. कार्यक्रम में सपरिवार पहुंचे नीरज शेखर ने कहा कि ये संग्रहालय ऐसी मिसाल कायम कर रहा है जो एक नयी राजनीतिक संस्कृति की शुरुआत करेगा. कार्यक्रम के बाद नीरज शेखर से एक के बाद एक कई ट्वीट किए और अपने पिताजी और पीएम मोदी के रिश्तों के ऐसे पहलू को उजागर किया जो लोगों को पता तक नहीं था.

नीरज शेखर ने लिखा कि चन्द्रशेखर और पीएम मोदी दो अलग अलग पीढ़ियों के थे और अलग अलग पार्टी और विचारधारा के भी थे. लेकिन फिर भी बहुत करीबी रिश्ते थे. यही तो लोकतंत्र की खूबसूरती है. मेरे पिताजी नरेंद्र मोदीजी को बहुत सालों से जानते थे. चन्द्रशेखर हमेशा से मोदीजी की विकास की राजनीति के साथ साथ उनकी पैनी नजर रखने के अंदाज के कायल रहे. नीरज शेखर ने बताया कि पहले बार चन्द्रशेखर और मोदी की मुलाकात आपातकाल के दौरान हुई थी. तब मोदीजी को चन्द्रशेखर के गुजरात दौरे पर उनके साथ रहने का जिम्मा सौंपा गया था. ये तब कि बात है जब मोदी राजनीति के गुर सीख रहे थे. इस मुलाकात में दोनों के बीच आपातकाल के खिलाफ चल रहे आंदोलन पर जम कर बात हुई. दोनों में मंथन इस बात पर भी हुआ कि 1980 और 1990 के दशक में राजनीति क्या मोड़ लेगी. मेरे पिताजी, मोदीजी की बतौर सीएम किए गए काम से भी खासे प्रभावित रहते थे.

अपने ट्वीट में नीरज शेखर ने कांग्रेस पर भी कटाक्ष किया है. नीरज लिखते हैं कि 2007 में पिताजी की मौत के बाद उन्होंने सक्रिय राजनीति में कदम रखा. कई सरकारें आयी और गयी. इनमें से कुछ के साथ उन्होंने भी करीब से काम किया था लेकिन किसी ने चन्द्रशेखर जी के काम को शो केस करने की जहमत नहीं उठाई. दुखद तो यही था कि सिर्फ एक परिवार के पीएम को ही पूजा जाता रहा. नीरज शेखर का मानना है कि पीएम मोदी इन राजनेताओं से अलग हट के हैं. पीएम मोदी का धन्यवाद देते हुए नीरज लिखते हैं कि वे समय निकाल कर चन्द्रशेखर जी पर किताब का विमोचन करने पहुंचे थे. आज जब मेरा पूरा परिवार पीएम संग्रहालय के उद्घाटन के मौके पर मौजूद था तो गर्व से हमारा मस्तक ऊंचा था और पूरे परिवार के लिए भावों क्षण था क्योंकि कम से कम हमारे पास एक ऐसा राजनेता है जो पूरे देश की सोचता है.

नीरज शेखर ने ट्वीट में कहा कि चन्द्रशेखर जी के बेटे होने के नाते, एक सांसद होने के साथ साथ राजनीति को समझने वाले के तौर पर यही कह सकता हूं कि मुझे खुशी है कि एक ऐसा संग्रहालय बना है जो सभी पीएम के योगदान को बराबर आंक रहा है. हर पीएम ने अपने वक्‍त के हिसाब से चुनौती झेली और अपना श्रेष्ठ दिया. इस लिय सिर्फ मेरे पिता चन्द्रशेखर ही नहीं बाकी सभी पीएम जहां भी होंगे, पीएम मोदी को आशिर्वाद दे रहे होंगे. जाहिर है कि ये पीएम संग्रहालय एक नयी राजनीतिक संस्कृति की शुरुआत करेगा और आने वाली पीढ़ियों के सामने मिसाल बनेगा की नेतृत्व कैसा होना.

(डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं. लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सत्यता/सटीकता के प्रति लेखक स्वयं जवाबदेह है. इसके लिए News18Hindi किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं है)

Tags: Pm narendra modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर