OPINION: क्या कांग्रेस की कमजोरी ही उसकी सबसे बड़ी ताकत है?

राहुल की काबिलियत पर सवाल उठ रहे हैं. भले ये भी कहा जा रहा है कि वो पार्टी की सबसे बड़ी कमजोरी हों लेकिन गांधी परिवार से ताल्लुक रखना उनका सबसे मजबूत पक्ष भी है.

News18Hindi
Updated: May 29, 2019, 4:02 PM IST
OPINION: क्या कांग्रेस की कमजोरी ही उसकी सबसे बड़ी ताकत है?
राहुल गांधी (फ़ाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: May 29, 2019, 4:02 PM IST
(अनीता कत्याल)

पिछले हफ्ते लोकसभा चुनाव में करारी हार पर समीक्षा के लिए कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक हुई थी. उम्मीदों के मुताबिक इस बैठक में हार की जिम्मेदारी लेते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की. लेकिन पार्टी ने राहुल के इस्तीफे को स्वीकार नहीं किया. बल्कि उन्हें फिर से संगठन खड़ा करने की जिम्मेदारी दे दी.

ऐसा ही कुछ साल 2014 में भी कांग्रेस की करारी हार के बाद भी हुआ था. उस वक्त पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की थी. लेकिन उस वक्त किसी और ने ये जिम्मेदारी नहीं ली थी. लेकिन इस बार हालात थोड़े अलग हैं. राहुल गांधी अपने फैसले पर अड़े हुए हैं.

खुल कर सामने आए मतभेद

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद नेताओं के मतभेद खुल कर सामने आ गए हैं. कई लोग इस हार के लिए राहुल गांधी के नेतृत्व और खराब चुनाव प्रचार को ज़िम्मेदार ठहरा रहे हैं. कुछ नेताओं ने तो यहां तक कह दिया कि राहुल गांधी के रहते पार्टी फिर से पटरी पर नहीं लौट सकती.

उठ रहे हैं क्षमता पर सवाल
राहुल की काबिलियत पर सवाल उठ रहे हैं. भले ये भी कहा जा रहा है कि वो पार्टी की सबसे बड़ी कमजोरी हों, लेकिन गांधी परिवार से ताल्लुक रखना उनका सबसे मजबूत पक्ष भी है.
Loading...

पार्टी के ज़्यादातर नेता ये मानते हैं कि कांग्रेस का गांधी परिवार से गहरा नाता है. जवाहरलाल नेहरू से लेकर राजीव गांधी को लोगों ने दो चीजों के लिए देखा है. वो है पहला पार्टी में एकता बनाए रखना और दूसरा चुनाव जिताना

उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे
लेकिन राहुल गांधी कांग्रेस की उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे हैं. न तो वो जीत दिला सके हैं और न ही पार्टी को एक साथ लेकर चल सके हैं. राहुल के नेतृत्व में पार्टी को राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में जीत मिली थी. लेकिन बाद से पार्टी लगातार पिछड़ती गई. राहुल इसे रोक नहीं पाए.

ये भी पढ़ें:

 आम आदमी को मोदी सरकार का तोहफा! सिर्फ 28 रुपये महीने देकर पाएं 2 लाख का इंश्योरेंस

हार के बाद देवगौड़ा पर खूब चिल्लाया था पोता निखिल! खबर छापने वाले पर FIR

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 29, 2019, 3:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...