• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • प्राइवेट मेंबर बिल के दौरान विपक्ष हंगामा करके जनसंख्या नियंत्रण बिल का कर रहा है विरोध: राकेश सिन्हा

प्राइवेट मेंबर बिल के दौरान विपक्ष हंगामा करके जनसंख्या नियंत्रण बिल का कर रहा है विरोध: राकेश सिन्हा

राकेश का आरोप है कि कुछ लोग निहित स्वार्थ के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून का विरोध कर रहे हैं. (फाइल फोटो)

राकेश का आरोप है कि कुछ लोग निहित स्वार्थ के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून का विरोध कर रहे हैं. (फाइल फोटो)

Rakesh Sinha Takes on Opposition: न्यूज18 के साथ खास बातचीत में बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण आज की जरूरत है. उनका कहना है जिस तरह से जनसंख्या बढ़ रही है और इसी अनुपात में जनसंख्या बढ़ती रही तो आने वाले कुछ दशकों में यह गंभीर समस्या पैदा बन सकती है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी (BJP) से सांसद राकेश सिन्हा ने विपक्ष पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि प्राइवेट मेंबर बिल (Private Member Bill) के दौरान हंगामा करके विपक्ष उनके जनसंख्या नियंत्रण बिल (Population Control Bill) का विरोध करना चाहता है। सिन्हा का कहना है कि जनसंख्या नियंत्रण आज की जरूरत है और ऐसे में इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर बहस से बचने के लिए विपक्ष प्राइवेट मेंबर बिल के दौरान हंगामा कर रहा है. सांसद ने कहा कि विपक्ष ऐसा निहित स्वार्थ और अपनी वोट बैंक की राजनीति और एक समुदाय के तुष्टिकरण के लिए कर रहा है.

इसलिए जरूरी है जनसंख्या नियंत्रण
न्यूज18 के साथ खास बातचीत में बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण आज की जरूरत है. उनका कहना है जिस तरह से जनसंख्या बढ़ रही है और इसी अनुपात में जनसंख्या बढ़ती रही तो आने वाले कुछ दशकों में यह गंभीर समस्या पैदा बन सकती है. सिन्हा का कहना है कि संसाधन सीमित है और अगर जनसंख्या का दबाव बढ़ता है तो भविष्य में विभिन्न तनाव खड़े हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि यह तनाव प्रादेशिक राष्ट्रीय सांप्रदायिक जातीय या फिर किसी और तरह का हो सकता है.

यह भी पढ़ें: जनसंख्या बढ़ाने की बात करने वाले भारत की संप्रभुता पर आघात पहुंचाते हैंः MP राकेश सिन्हा

गिनाए कारण
बीजेपी सांसद का आरोप है कि कुछ लोग निहित स्वार्थ के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून का विरोध कर रहे हैं. सिन्हा ने आरोप लगाया कि जनसंख्या जिहाद के कारण एक विशेष वर्ग इस प्राइवेट मेंबर बिल और इस तरह के कानून का विरोध कर रहा है. इसके साथ ही साथ जनसंख्या नियंत्रण कानून के विरोध के लिए एक मल्टीनेशनल कंपनी का ऐसा वर्ग है जो भारत से सस्ता मजदूर जाता है.

उन्होंने कहा कि उन मल्टीनेशनल कंपनी को इस बात से कोई मतलब नहीं कि इससे भारतीय अर्थव्यवस्था पर कितना जोर पड़ता है और भारत में श्रम का कितना सम्मान होता है. सिन्हा ने जनसंख्या नियंत्रण को लेकर के उत्तर प्रदेश सरकार और असम सरकार की पहल का भी स्वागत किया और कहा कि इस को लेकर के राष्ट्रीय स्तर पर एक नीति बननी चाहिए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज