रोहिंग्या शरणार्थियों पर सरकार के रुख से विपक्षी पार्टियां हुईं हमलावर

रोहिंग्या शरणार्थियों पर सरकार के रुख से विपक्षी पार्टियां हुईं हमलावर
कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया ने रोहिंग्या शरणार्थियों को देश में पनाह देने की वकालत करते हुए दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया.

रोहिंग्या शरणार्थियों पर केन्द्र सरकार के रुख पर अब उसे विपक्षी पार्टियों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2017, 6:23 PM IST
  • Share this:
रोहिंग्या शरणार्थियों पर केन्द्र सरकार के रुख पर अब उसे विपक्षी पार्टियों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है. इसी सिलसिले में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया ने इन शरणार्थियों को देश में पनाह देने की वकालत करते हुए दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया और अपनी बात रखी. उनके अनुसार भारत सरकार को जो भी कदम उठाना चाहिए, मानवता को ध्यान में रखकर उठाना चाहिए.

प्रदर्शन करने आए लोगों का ये भी कहना था कि सरकार डेढ़-दो लाख और शरणार्थियों को जगह दे सकती है तो रोहिंग्या को क्यों नहीं. भारत सरकार को इसमें मानवता का रुख अपनाना चाहिए. अगर कुछ मामले हैं तो इसका खामियाजा सारे लोगों को न भुगतना पड़े.

सीपीआई सांसद डी राजा ने प्रदर्शन के दौरान ये भी साफ कर दिया कि फिलहाल उन्हें सुप्रीम कोर्ट के इस मामले में फैसले का इंतजार है. लेकिन उनकी पार्टी का क्या रुख है इस प्रदर्शन ने ये जाहिर कर दिया.



गौरतलब है कि सरकार ने सोमवार को इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर अपना रुख साफ कर दिया था कि वो रोहिंग्या को सुरक्षा के लिहाज से खतरा मानती है. और सरकार का यही रुख तमाम विपक्षी पार्टियों के विरोध का आधार बन चुका है.
ये भी पढ़ें-
ममता ने कहा, रोहिंग्या शरणार्थियों को वापस नहीं भेजना चाहिए
पाकिस्तान और ISIS से जुड़े हो सकते हैं रोहिंग्या मुसलमान: भारत सरकार


 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading