ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन AstraZeneca के ट्रायल को फिर से मिली हरी झंडी, 6 सितंबर को लगी थी रोक

ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन AstraZeneca के ट्रायल को फिर से मिली हरी झंडी, 6 सितंबर को लगी थी रोक
ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन के ट्रायल फिर से हरी झंडी मिल गई है.

AstraZeneca Resumes Oxford Coronavirus Vaccine Trial: एस्ट्राजेनेका ने कोरोना वैक्सीन का ट्रायल फिर से शुरू कर दिया है. ऑक्‍सफोर्ड ने कहा कि MHRA ने सिफारिश की थी कि सुरक्षा डेटा की समीक्षा के बाद फिर से ट्रायल शुरू किया जाए. इसके ट्रायल को 6 सितंबर को रोका गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2020, 8:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) फिर से एस्‍ट्राजेनेका कोरोना वैक्‍सीन के ट्रायल (AstraZeneca Coronavirus Vaccine Trial ) को शुरू करेगी. मेडिसिंस हेल्थ रेगुलेटरी अथॉरिटी (MHRA) से वैक्सीन के ट्रायल की हरी झंडी मिल गई है. दरअसल, एक वॉलंटियर की तबीयत बिगड़ने के बाद वैक्सीन का ट्रायल पहले यूके (UK) और फिर दुनिया भर में रोक दिया गया था. वैक्‍सीन के ट्रायल को हरी झंडी मिलने पर ऑक्‍सफोर्ड ने कहा कि MHRA ने सिफारिश की थी कि सुरक्षा डेटा की समीक्षा के बाद फिर से ट्रायल शुरू किया जाए. इसके ट्रायल को 6 सितंबर को रोका गया था.

एस्ट्राजेनेका ने शनिवार को कहा कि ब्रिटेन में एक वॉलंटियर के बीमार पड़ने के बाद कोरोना वायरस वैक्‍सीन के ट्रायल पर लगाए गए रोक को ब्रिटिश नियामकों से अनुमति मिल गई है. वैक्‍सीन का परीक्षण फिर से शुरू कर दिया गया है. कंपनी ने कहा, 'एस्ट्राजेनेका ऑक्सफोर्ड कोरोना वायरस वैक्सीन, AZD1222 के लिए चिकित्सीय परीक्षणों को मेडिसिन हेल्थ रेगुलेटरी अथॉरिटी (MHRA) द्वारा सहमति दी गई है. इसे यूके में फिर से शुरू कर दिया गया है.' कंपनी ने कहा कि जांच के अनुसार, वैक्‍सीन का परीक्षण करना सुरक्षित है. यह वैक्‍सीन दुनिया भर के उन 9 वैक्‍सीन में शामिल है जो वर्तमान में अपने तीसरे चरण में है.  एस्ट्राजेनेका ने इससे पहले घोषणा की थी कि एक वॉलंटियर के बीमार पड़ने के कारण वह अपने परीक्षण को स्‍वेच्‍छा से रोक रहा है.

सीरम इंस्टीट्यूट ने भारत में रोका था परीक्षण
सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया (एसआईआई) ने गुरुवार को कहा था कि वह कोविड- 19 के संभावित टीके के चिकित्सकीय परीक्षण को रोक रही है. सीरम ने इस टीके की एक अरब खुराक बनाने का समझौता किया हुआ है. सीरम इंस्टीट्यूट ने जारी एक बयान में कहा था, 'हम स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं और भारत परीक्षण को फिलहाल स्थगित कर रहे हैं.' सीरम मात्रा के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी टीका विनिर्माण कंपनी है.
एसआईआई की ओर से यह पहले उसके यह कहने के एक दिन बाद की गई है जब उसने कहा कि वह भारत में परीक्षण कार्य जारी रखेगी. इससे पहले ब्रिटेन की दवा निर्माता कंपनी एस्ट्राजेनेका ने परीक्षण में शामिल एक स्वैच्छिक प्रतिभागी के बीमार पड़ने पर परीक्षण रोक दिया था. हालांकि, सीरम ने कहा कि भारत में उसका परीक्षण जारी रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज