Corona vaccine: कोविड-19 के नए प्रकार पर भी असरदार होगा ऑक्सफोर्ड- एस्ट्राजेनेका का टीका- रिपोर्ट

कोविड-19 वैक्सीन

रिपोर्ट में अधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित कोविड-19 का (Corona Vaccine) टीका बहुत तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस (Coronavirus Strain) के नए प्रकार पर प्रभावी होना चाहिए.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित कोविड-19 का (Corona Vaccine) टीका बहुत तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस (Coronavirus Strain) के नए प्रकार पर प्रभावी होना चाहिए. ऑक्सफोर्ड के टीके का भारत के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) से करार है और गुरुवार से पहले ब्रिटेन में इसे मंजूरी मिलने की उम्मीद है, जिसके बाद सबसे असुरक्षित वर्गों के टीकाकरण में तेजी आएगी.

    'दि संडे टाइम्स' ने वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के हवाले से लिखा है, 'पहली प्राथमिकता 1.2 से 1.5 करोड़ लोगों के टीकाकरण की है, जिन्हें कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत होगी. एस्ट्राजेनेका के टीके की मंजूरी का अभिप्राय है कि हम वसंत ऋतु तक इन लोगों का टीकाकरण कर पाएंगे.'

    सूत्रों ने चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस के नए रूप (Covid-19 New Strain) ने पुराने वाले को पीछे छोड़ दिया है और वह ब्रिटेन में तेजी से फैल रहा है. सूत्रों ने कहा, 'नवीनतम आंकड़े ठीक नहीं है लेकिन औषधि एवं स्वास्थ्य सेवा उत्पाद नियामक एजेंसी (एमएचआरए) इस हफ्ते के मध्य तक ऑक्सफोर्ड के टीके के इस्तेमाल को हरी झंडी देगी.'

    एस्ट्राजेनेका के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पास्कल सोरियट ने कहा कि टीका संबंधी आंकड़े दिखाते हैं कि यह फाइजर और मॉडर्ना के टीकों की तरह ही प्रभावी है, जिन्हें 95 प्रतिशत तक प्रभावी होने की वजह से मंजूरी मिल चुकी है और यह टीका बहुत तबीयत खराब होने और अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति से बचाने में 100 प्रतिशत कारगर है. उन्होंने कहा कि उनका टीका अत्यधिक संक्रामक वायरस के नए रूप के खिलाफ भी प्रभावी 'होना चाहिए'. गौरतलब है कि वायरस के इस नए प्रकार की वजह से पूरे इंग्लैंड में दोबारा पूर्ण लॉकडाउन लगाना पड़ा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.