Home /News /nation /

किस हाल में है भारत का पहला ओमिक्रॉन संक्रमित?, पहली बार बताया- नया वेरिएंट कैसे डाल रहा असर

किस हाल में है भारत का पहला ओमिक्रॉन संक्रमित?, पहली बार बताया- नया वेरिएंट कैसे डाल रहा असर

डॉक्टर की जांच रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि जहां उनका ऑक्सीजन स्तर 95 था. (फाइल फोटो)

डॉक्टर की जांच रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि जहां उनका ऑक्सीजन स्तर 95 था. (फाइल फोटो)

Omicron Symptoms, Omicron Update, Karnataka: डॉक्टर ने कहा कि उन्हें ओमिक्रॉन के इलाज में सबसे पहले 25 नवंबर को मोनोक्लोनल एंटीबॉडी की एक खुराक दी गई इससे बहुत ज्यादा फर्क पड़ा. इस दवा ने इतना ज्यादा असर किया कि अगले दिन कुछ भी लक्षण नजर नहीं आ रहे थे और मैं पूरी तरह से सामान्य था. मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मुझे कभी कोविड था ही नहीं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में सबसे पहले मिलने वाला कोविड का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron News) के मामले अब भारत में भी सामने आ चुके हैं. अब तक देश में ओमिक्रॉन के तीन मामले सामने आ चुके हैं. कर्नाटक (Omicron in Karnatka) में जो दो लोग इस वेरिएंट से संक्रमित पाए गए उनमें से एक 46 वर्षीय डॉक्टर है जिनका इलाज अभी बेंगलुरु (Bengaluru) के एक अस्पताल में चल रहा है. अब डॉक्टर ने ओमिक्रॉन (Omicron) के इलाज के दौरान अपने अनुभव को शेयर करते हुए संक्रमण को लेकर कई बड़ी बाते कहीं हैं.

    ओमिक्रॉन पॉजिटिव डॉक्टर ने कहा कि कोविड के नए वेरिएंट में कोरोना के पहले की तरह के लक्षण दिखाई नहीं देते हैं. अपने अनुभव को बताते हुए डॉक्टर ने कहा कि उन्हें किसी भी तरह से सर्दी खांसी या फिर जुकाम नहीं हुई. इसके अलावा न ही किसी तरह से सांस लेने में दिक्कत हुई है. डॉक्टर ने कहा कि जब वह होम आइसोलेशन में तीन दिन थे तब उन्हें चक्कर आने का अनुभव हो रहा था. इसके बाद जब परिवार वालों को चिंता होने लगी तो अंत में अस्पताल में भर्ती होने का फैसला लिया.

    यह भी पढ़ें- कर्नाटक के गृह मंत्री ने पुलिसवालों को कहा ‘कुत्ता’, आखिर किस बात से हुए नाराज, VIDEO वायरल

    डॉक्टर ने कहा कि उन्हें ओमिक्रॉन के इलाज में सबसे पहले 25 नवंबर को मोनोक्लोनल एंटीबॉडी की एक खुराक दी गई इससे बहुत ज्यादा फर्क पड़ा. इस दवा ने इतना ज्यादा असर किया कि अगले दिन कुछ भी लक्षण नजर नहीं आ रहे थे और मैं पूरी तरह से सामान्य था. मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मुझे कभी कोविड था ही नहीं. उन्होंने कहा कि कोविड के लक्षण तो इससे कहीं ज्यादा नजर आते हैं लेकिन ओमिक्रॉन में किसी भी तरह के लक्षण समझ में नहीं आ रहे.

    डॉक्टर की जांच रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि जहां उनका ऑक्सीजन स्तर 95 था, वहीं उनका बुखार 101 डिग्री तक पहुंच गया था. उनका इलाज कर रहे डॉक्टर्स ने कहाकि जब उनके फेफड़े को स्कैन किया गया तो बहुत ही कम बदलाव थे जैसा कि सामान्य तौर पर कोविड से संक्रमित मरीज में ऐसा नहीं देखा जाता है. उनके फेफड़े पूरी तरह से ठीक थे.

    बता दें कि इसके साथ ही अब डॉक्टर की पत्नी ने भी शरीर में दर्द और ठंड लगाने की शिकायत की है. उनका टेस्ट 26 नवंबर को किया गया था जिसमें उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी. 29 नवंबर को डॉक्टर को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. डॉक्टर ने कहा कि अब इलाज के बाद वह पूरी तरह से ठीक हैं और उन्हें कोई भी लक्षण प्रतीत नहीं होता

    Tags: Karnataka, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर