Assembly Banner 2021

महाराष्ट्र में कोरोना की भयावह तस्वीर : ऑक्सीजन की किल्लत, अस्पताल भर्ती करने से कर रहे इनकार

(सांकेतिक फोटो)

(सांकेतिक फोटो)

Maharashtra Coronavirus News: महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बुधवार को कहा था कि राज्य के पास कोविड-19 के टीके की 14 लाख खुराकें ही बची हुई हैं.

  • Share this:

मुंबई. नासिक के एक अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस से पीड़ित मरीज के परिवारवालों से कहा गया कि उन्हें किसी दूसरे अस्पताल में ले जाएं क्योंकि अगले कुछ घंटे तक के लिए ही ऑक्सीजन की आपूर्ति हो सकेगी. महाराष्ट्र में कोरोना की वजह से हालात कितने खराब हैं, यह उसका एक जीता-जागता उदाहरण है. इस घटना से साफ जाहिर होता है कि लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों और उससे होने वाली मौतों ने राज्य की अस्पताल सेवाओं पर काफी बुरा असर डाला है.


अर्चना व्यावहारे ने एनडीटीवी से कहा कि उनकी मां अस्पताल में पिछले 17 दिनों से है और हाल ही में उन्हें नॉन-कोविड वार्ड में शिफ्ट किया गया है. उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई, जिसके बाद सुबह परिवार के पास अस्पताल से एक फोन आया. व्यावहारे ने कहा, "अस्पताल की तरफ से जानकारी दी गई कि उनके यहां ऑक्सीजन खत्म हो रहा है और सिर्फ शाम तक ही चल पाएगा. इसलिए, हमें अपनी मां को जल्दी ही किसी दूसरे अस्पताल ले जाना होगा."


हालांकि, काफी सारे अस्पतालों ने नए मरीज को भर्ती करने मना कर दिया और परिवार से कहा कि वे अपने यहां उपलब्ध ऑक्सीजन को बचाना चाहते थे, ताकि उनके यहां पहले से जो मरीज भर्ती हैं उन्हें ऑक्सीजन की कमी ना हो. व्यावहारे ने एनडीटीवी से कहा, "हमने नासिक के सभी अस्पतालों में कोशिश की, लेकिन उन्होंने नए मरीज को भर्ती करने से इनकार कर दिया. अगर हमें ऑक्सीजन नहीं मिलता है, तो मेरी मां जीवित नहीं रह पाएगी." रिपोर्ट के मुताबिक डॉक्टरों ने और ऑक्सीजन के लिए कोशिश की, लेकिन ऐसा करने में वे सफल नहीं हो सके.


महाराष्ट्र में केवल तीन दिन के लिए कोविड-19 के टीके हैं उपलब्ध
राज्य में अस्पतालों के ये हालात ऐसे समय में हैं, जबकि महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बुधवार को कहा था कि राज्य के पास कोविड-19 के टीके की 14 लाख खुराकें ही बची हुई हैं जो दो या तीन दिन ही चल पाएंगी और टीकों की कमी के कारण कई टीकाकरण केंद्र बंद करने पड़ रहे हैं. टोपे ने मुंबई में संवाददाताओं से कहा कि ऐसे टीकाकरण केंद्रों पर आ रहे लोगों को वापस भेजा जा रहा है क्योंकि टीके की खुराकों की आपूर्ति नहीं हुई है. उन्होंने कहा था, "राज्य में अब 14 लाख खुराकें ही उपलब्ध हैं जिनसे तीन दिन ही टीकाकरण हो पाएगा. हमें हर हफ्ते 40 लाख खुराकों की जरूरत है. इससे हम एक सप्ताह में हर दिन छह लाख खुराक दे पाएंगे. पर्याप्त टीके नहीं मिल पाए हैं."


कोरोना टीका को लेकर महाराष्ट्र सरकार पर बरसे हर्षवर्धन
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने महाराष्ट्र और कुछ अन्य राज्यों पर बुधवार को हमला बोला और उन पर पर्याप्त पात्र लाभार्थियों को टीका लगाए बिना सभी के लिए टीकों की मांग कर लोगों में दहशत फैलाने तथा अपनी “विफलताएं” छिपाने की कोशिश करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा था कि टीकों की कमी को लेकर महाराष्ट्र के सरकारी प्रतिनिधियों के बयान, “और कुछ नहीं बल्कि वैश्विक महामारी के प्रसार को रोकने की महाराष्ट्र सरकार की बार-बार की विफलताओं से ध्यान भटकाने की कोशिश है.” हर्षवर्धन ने कहा कि टीकों की कमी के आरोप पूरी तरह निराधार हैं. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र द्वारा की जा रही “जांचें पर्याप्त नहीं हैं और संक्रमितों के संपर्क में आने वालों का पता लगाना भी संतोषजनक नहीं है.” (इनपुट भाषा से भी)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज