कार से उतरे, बंद किया फोन और 'गायब' हो गए पी चिदंबरम!

News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 3:26 PM IST
कार से उतरे, बंद किया फोन और 'गायब' हो गए पी चिदंबरम!
NEWS18 Creative

पी चिदंबरम (P Chidambaram) पर सीबीआई (CBI) ने यह आरोप लगाते हुए साल 2017 में FIR दर्ज की है कि विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (FIPB) से फंड ट्रांसफर करने में अनियमितता बरती गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 21, 2019, 3:26 PM IST
  • Share this:
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) से झटका लगने के बाद गायब हो गए हैं. INX Media केस में अग्रिम जमानत की याचिका खारिज होने के बाद वह तुरंत सुप्रीम कोर्ट गए. वहां चिदंबरम की लीगल टीम ने एक याचिका दायर की जिसमें मांग की गई थी कि मामले की तुरंत सुनवाई हो.

हाालंकि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से बाहर आने के बाद चिदंबरम, भूमिगत हो गए. उनके घर पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI)  की टीम तीन बार गई. कई जगह छापे मारे गए लेकिन चिदंबरम का कुछ पता नहीं चल रहा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट का फैसला आने के बाद जब चिदंबरम सुप्रीम कोर्ट गए उसके बाद से ही उन्हें नहीं देखा गया. कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि सुप्रीम कोर्ट से बाहर आने के बाद उन्होंने अपने क्लर्क और ड्राइवर को बीच रास्ते में गाड़ी से उतार दिया. इतना ही नहीं उन्होंने अपना फोन भी ऑफ कर लिया जो अभी तक ऑन नहीं हुआ है.

यह भी पढ़ें:  चिदंबरम के खिलाफ कार्रवाई पर राहुल बोले- चरित्रहनन की कोशिश

लुकआउट नोटिस भी जारी
बता दें बुधवार को Enforcement Directorate (ED) ने चिदंबरम के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी कर दिया ताकि वह विदेश ना जा सकें. वहीं सुप्रीम कोर्ट में जांच एजेंसी ने एक कैविएट भी दाखिल किया है, जिसमें कहा गया है कि बिना उनको सुने फैसला न दिया जाए.

चिदंबरम पर सीबीआई ने यह आरोप लगाते हुए साल 2017 में FIR दर्ज की है कि विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (FIPB) से फंड ट्रांसफर करने में अनियमितता बरती गई. साल 2007 में INX मीडिया को विदेश से 305 करोड़ का फंड मिला था. उस वक्त पी चिदंबरम वित्त मंत्री थे और आरोप है उनके बेटे कार्ति चिदंबरम ने इस लेन-देन में उनकी मदद ली थी.
Loading...

यह भी पढ़ें:  SC में पी चिदंबरम बोले- Kingpin कहना पूरी तरह निराधार

नियम किए गए नजरअंदाज
सीबीआई के अनुसार INX मीडिया ने नियमों को नजरअंदाज किया और जानबूझकर INX न्यूज़ में 26 प्रतिशत के लगभग निवेश किया. यही नहीं उन्होंने 800 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से अपने शेयर को जारी करके INX मीडिया के लिए 305 करोड़ की एफडीआई जुटाई जबकि उन्हें सिर्फ 4.62 करोड़ रुपये एफडीआई की ही अनुमति थी.

कार्ति चिदंबरम को 28 फरवरी, 2018 को गिरफ्तार किया गया था, हालांकि बाद में उन्हें जमानत मिल गई. ED ने कार्ति चिदंबरम की 54 करोड़ रुपये की संपत्ति और मामले से जुड़ी एक कंपनी को कुर्क किया था.

यह भी पढ़ें:  INX मीडिया केस में ऐसे फंसे पूर्व वित्तमंत्री चिदंबरम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 3:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...