हाईकोर्ट में चिदंबरम को होना पड़ा शर्मिंदा, जज की चेतावनी पर बोले- 'नया मोबाइल है साइलेंट करने नहीं आता'

गुजरात उच्च न्यायालय में 2017 में राज्यसभा चुनाव को लेकर एक भाजपा नेता के वकील ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल से सवाल-जवाब किए. इस दौरान सपोर्ट के लिए चिदंबरम भी वहां पहुंचे थे. लेकिन उन्हें नहीं पता था, अहमद पटेल के बजाए उन पर ही कोर्ट की सुई घूम जाएगी.

News18Hindi
Updated: June 21, 2019, 3:24 PM IST
हाईकोर्ट में चिदंबरम को होना पड़ा शर्मिंदा, जज की चेतावनी पर बोले- 'नया मोबाइल है साइलेंट करने नहीं आता'
जब जिरह चरम पर थी तभी पी च‌िदंबरम का फोन बजने लगा
News18Hindi
Updated: June 21, 2019, 3:24 PM IST
पूर्व गृहमंत्री पी च‌िदंबरम को हाल ही में कोर्टरूम में अपने-अपने मोबाइल फोन के चलते शर्मिंदगी झेलनी पड़ी. वरिष्ठ कांग्रेस नेता के साथ यह वाकया गुजरात हाईकोर्ट में घटा. असल में गुरुवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के 2017 राज्यसभा चुनाव में गड़्बड़ी को लेकर गुजरात हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. इस दौरान अपने नेता की सुनवाई और जिरह को सुनने के लिए पी चिदंबरम भी हाईकोर्ट में मोजूद थे.

इसी दौरान जब जिरह चरम पर थी तभी पी च‌िदंबरम का फोन बजने लगा. उनके काफी जूझने के बाद भी उनका फोन साइलेंट नहीं हुआ. चिदंबरम के मोबाइल फोन के बजने से अचानक अदालत का सारा ध्यान उनकी तरफ हो गया. जब किसी तरह उनका फोन चुप हुआ तो सुनवाई कर रहीं जज ने मुस्कुराते हुए कहा कि अदालत की कार्यवाही में इस तरह का खलल डालने वालों के फोन जब्त कर लिए जाते हैं.

इस पर तत्काल सफाई देते हुए चिदंबरम ने बताया कि उन्होंने यह फोन हाल ही में खरीदा है. उन्हें इस फोन को चलाने का अभी ठीक से आइडिया नहीं है. ऐसे में वे नहीं समझ पा रहे हैं कि इसे कैसे साइलेंट करें. इसके बाद कोर्ट का एक कर्मचारी उनके पास आया और उनका फोन साइलेंट किया.

अहमद पटेल पर कोर्ट का सहयोग ना के लिए लगी लताड़

गुजरात उच्च न्यायालय में 2017 में उनके राज्यसभा चुनाव को लेकर एक भाजपा नेता के वकील ने सवाल जवाब किए गए. इस मामले में भाजपा नेता बलबंतसिह राजपूत ने याचिका दायर की है. उनके वकील और अपर सॉलिसीटर जनरल सत्य पाल जैन ने न्यायाधीश बेला त्रिवेदी के समक्ष दो घंटे तक कई प्रश्न किए. सवालों का यह सिलसिला आज भी जारी रहेगा.

इस दौरान जब कई बार पटेल ने कहा कि उन्हें याद नहीं तो अदालत ने इस कांग्रेसी नेता से कहा कि उन्हें तैयार होकर आना चाहिये था.

क्या है मामला, क्यों अहमद पटेल पर चल रहा है मुकदमा
Loading...

राजपूत, पटेल के हाथों यह चुनाव हार गये थे. पटेल पर आरोप लगाया गया कि उन्होंने वोटों के लिए विधायकों को रिश्वत दी है. पटेल को जीत के लिए आवश्यक 44 मत मिले जबकि राजपूत को 38 वोट मिले.

य‌ह भी पढ़ेंः नई सरकार में पहली बार पाकिस्तान को डिनर का मौका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 21, 2019, 3:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...