भगवान पद्मनाभ स्वामी मंदिर कल से श्रद्धालुओं के लिए खुलेगा

भगवान पद्मनाभ स्वामी मंदिर कल से श्रद्धालुओं के लिए खुलेगा
केरल के पद्मनाभ स्वामी मंदिर की फाइल फोटो (फोटो- केरल टूरिज्म)

श्रद्धालुओं (devotees) को मंदिर जाने से एक दिन पहले शाम पांच बजे तक ‘एसपीएसटी डॉट इन’ पर दर्शन के लिए ऑनलाइन पंजीकरण (online registration) कराना होगा और मंदिर आने पर पंजीकरण की प्रति और आधार की मूल प्रति (Aadhar's original copy) साथ रखनी होगी.

  • Share this:
तिरुवनंतपुरम. केरल (Kerala) के तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram) स्थित प्रसिद्ध पद्मनाभ स्वामी मंदिर (Padmanabhaswamy Temple) में करीब पांच महीने के बाद बुधवार को कोविड-19 (Covid-19) के सख्त नियमों के साथ श्रद्धालु पूजा कर सकेंगे. महामारी (pandemic) की वजह से मंदिर में 21 मार्च से श्रद्धालुओं (devotees) को दर्शन की अनुमति नहीं है. मंदिर के सूत्रों ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘हमने श्रद्धालुओं के लिए पर्याप्त व्यवस्था की है. सामाजिक दूरी (Social Distancing) का अनुपालन कराने के लिए फर्श पर निशान बनाए गए हैं और अवरोधक (Blocker) लगाए गए हैं.’’

श्रद्धालुओं (devotees) को मंदिर जाने से एक दिन पहले शाम पांच बजे तक ‘एसपीएसटी डॉट इन’ पर दर्शन के लिए ऑनलाइन पंजीकरण (online registration) कराना होगा और मंदिर आने पर पंजीकरण की प्रति और आधार की मूल प्रति (Aadhar's original copy) साथ रखनी होगी. सूत्रों ने बताया कि मंदिर (temple) में श्रद्धालुओं को उत्तरी द्वार से प्रवेश दिया जाएगा और प्रवेश से पहले रजिस्टर (register) में उन्हें अपनी विस्तृत जानकारी दर्ज करानी होगी.

एक बार में 35 श्रद्धालु दर्शन करेंगे और 1 दिन में श्रद्धालुओं की अधिकतम संख्या होगी 665
मंदिर में एक बार में 35 श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे और एक दिन में श्रद्धालुओं की अधिकतम संख्या 665 होगी. उन्होंने बताया कि जिन लोगों की उम्र 60 साल से अधिक और 10 साल से कम होगी, उन्हें मंदिर आकर दर्शन करने की अनुमति नहीं होगी.
यह भी पढ़ें: छोटी मूर्तियां, बिना शोर-शराबे का विसर्जन, कोविड-19 ने ऐसे बदली गणपति उत्सव की सूरत



मंदिर की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक सुबह आठ बजे से 11 बजे तक और शाम पांच बजे से 6 बजकर 45 मिनट पर दीप अराधना तक दर्शन का समय होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज