CM और LG विवाद: किरण बेदी के घर के बाहर ही सो गए विरोध प्रदर्शन कर रहे मुख्यमंत्री

पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी पर हमला तेज करते हुए मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने अपने मंत्रिमंडल सहयोगियों के साथ राज निवास के बाहर धरना दे रहे हैं

फर्स्टपोस्ट.कॉम
Updated: February 14, 2019, 11:37 AM IST
CM और LG विवाद: किरण बेदी के घर के बाहर ही सो गए विरोध प्रदर्शन कर रहे मुख्यमंत्री
विरोध प्रदर्शन करते हुए वी नारायण सामी
फर्स्टपोस्ट.कॉम
Updated: February 14, 2019, 11:37 AM IST
पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी और लेफ्टिनेंट गवर्नर किरण बेदी के बीच तनाव लगातार बढ़ता हुआ दिख रहा है. पिछली रात बुधवार को मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों के साथ राज निवास के बाहर ही सो गए. पिछली रात बुधवार को मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों के साथ राज निवास के बाहर ही सो गए. मुख्यमंत्री की मांग है कि मुफ्त चावल बांटने की योजना सहित 39 सरकारी प्रस्तावों को उपराज्यपाल मंजूरी दें. कांग्रेस और डीएमके के विधायक भी राज निवास के बाहर हो रहे प्रदर्शन में शामिल हैं. राज निवास उपराज्यपाल का आधिकारिक कार्यालय सह निवास स्थान है.

यह भी पढ़ें: विवाद के बाद किरण बेदी ने वापस लिया गरीबों को मुफ्त चावल नहीं देने का फरमान

आरोप है कि विभिन्न मामलों पर उनकी स्वीकृति के लिए भेजी गईं फाइलों को उपराज्यपाल ने खारिज कर दिया. उनके इसी नकारात्मक रुख के विरोध में मुख्यमंत्री और उनके सहयोगी मंत्री काली कमीज में राज निवास के बाहर सड़क पर धरने पर बैठ गए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबों एवं जरूरतमंदों के उत्थान के लिए सरकारी प्रस्तावों को लगातार खारिज किया जा रहा है में इसका कड़ा विरोध करता हूं.



नारायणसामी ने कहा कि जागरुकता फैलाए बगैर किरण बेदी ने अपने हाल के फैसले में लोगों के लिए हेलमेट पहनना अनिवार्य कर दिया है, जो 'साफ तौर पर उनकी मनमानी और लोगों को प्रताड़ित करने का मामला प्रतीत होता है.' राज्य सरकार ने इस संबंध में पहले लोगों में जागरुकता फैलाने का प्रस्ताव दिया था. उन्होंने आरोप लगाया कि उपराज्यपाल की मंजूरी के लिए पिछले कुछ सप्ताह में उन्हें 39 सरकारी प्रस्ताव भेजे गए, लेकिन उन्होंने इन प्रस्तावों पर मंजूरी नहीं दी.

किरण बेदी ने विनियोग विधेयक को नहीं दी मंजूरी, भड़के मुख्यमंत्री नारायणसामी

धरने की वजह से किरण बेदी राजनिवास से बाहर नहीं निकल पा रही हैं. इसे लेकर उन्होंने सीएम नारायणसामी को चिट्ठी भी लिखी है. जिसे उन्होंने ट्विटर पर शेयर भी किया है. उन्होंने चिट्ठी में कहा है कि आपको धरने पर बैठने के बजाय मिलना चाहिए था. आप एक पत्र लिखते और राजनिवास की नाकाबंदी से पहले मेरे जवाब का इंतजार करते. इस नाकेबंदी के कारण आम जनता को भारी असुविधा हो रही है.





हालांकि इस चिट्ठी के बाद भी सीएम नारायणसामी और उनके मंत्रियों ने धरना खत्म करने से इनकार कर दिया. उनका कहना है कि जब तक पेंडिंग फाइलें रिलीज नहीं की जाती, ये धरना जारी रहेगा.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...