कश्मीर में रेडियो के जरिये लोगों को भड़काने की फिराक में पाकिस्तान

Sandeep Bol | News18Hindi
Updated: August 28, 2019, 2:18 PM IST
कश्मीर में रेडियो के जरिये लोगों को भड़काने की फिराक में पाकिस्तान
कश्मीर में सुरक्षाकर्मी

बालाकोट एयर स्ट्राइक (Balakote Air Strike) के बाद से ही पाकिस्तान (Pakistan) ने एहतियातन आतंकियों (Terrorist) को सीमा के पास के लॉन्च पैड से हटाकर सुरक्षित जगहों पर भेज दिया था. लेकिन सूत्रों की मानें तो ख़ाली किए गए लॉन्च पैड पर आतंकी वापस लौट आए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2019, 2:18 PM IST
  • Share this:
जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) के हटाने के बाद से पाकिस्तान अपने यहां पलने वाले आतंकी संगठनों को पूरी तरह से एक्टिव कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान अलग-अलग ग्रुप में आतंकियों को घुसपैठ कराने की तैयारी में भी है. इसके अलावा बार-बार भारत को युद्ध की धमकी देने वाले पाकिस्तान ने पूर्व सैनिकों को भी फिर से सेना में भर्ती करने का काम शुरू कर दिया है. ख़ुफ़िया रिपोर्ट के मुताबिक़ पाकिस्तान बड़ी तादाद में सेना के उन सौनिकों को वापस सेना में शामिल कर रही है.

आतंकी कमांडर की मीटिंग
सूत्रों की मानें तो जमानत पर छूटा लश्कर सरगना जकीर उर रहमान लखवी को पीओके में आतंकियों को भारत में घुसपैठ कराने के लिए भेजा है. ख़ुफ़िया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ मुंबई हमले के मास्टर माइंड लखवी ने अबू बक्र के साथ मिलकर पिछले हफ़्ते ही पीओके के कोटली में एक बडी मीटिंग की है. इस मीटिंग में 40 -50 आतंकी कमंडर मौजूद थे, जिन्हें कश्मीर में घुसपैठ के लिए नए फ़रमान जारी किए गए है. इसमें कहा गया है कि वह 6 से 7 आतंकियों के ग्रुप में घुसपैठ करें ताकि भारतीय सेना अगर एक जगह उन्हें रोकने में कामयाब हुई तो दूसरी जगह से वह भारतीय सीमा में घुस सकें.

खुफिया सूत्रों के मुताबिक, आतंकियों को बाक़ायदा ये भी हिदायत दी गई है कि केजी और बीजी सेक्टर से घुसपैठ की कोशिशों को तेज किया जाए. जानकारों की मानें तो इन जगह को चुनने की पीछे की वजह यह है कि यहां से पाकिस्तान की फ़ौज सीजफायर का उल्लंघन कर आतंकियों की आसानी से घुसपैठ करा सकती है.

लॉन्च पैड पर वापस लौटे आतंकी
बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद से ही पाकिस्तान ने एहतियातन आतंकियों को सीमा के पास के लॉन्च पैड से हटाकर सुरक्षित जगहों पर भेज दिया था. लेकिन सूत्रों की मानें तो ख़ाली किए गए लॉन्च पैड पर आतंकी वापस लौट आए हैं और घुसपैठ की तैयारी में लगे हैं. ख़ुफ़िया रिपोर्ट के मुताबिक़ अलग-अलग संगठन के 300 से भी ज़्यादा आतंकी पीओके के तौबत, सरदारी, लीपा और जमुआ सेक्टर पर मौजूद हैं.

रेडियो का लिया जा रहा है सहारा
Loading...

पाकिस्तान की सेना हर उस रास्ते का इस्तेमाल कर लेना चाहती है जिससे कश्मीर में अपनी मौजूदगी दर्ज करा सके. इसके चलते पाकिस्तान जम्मू कश्मीर के लोगों को एफ़एम रेडियो के जरिए बरगलाने की कोशिश में जुटा है. ख़ुफ़िया रिपोर्ट में ये ख़ुलासा हुआ है कि पाकिस्तान की सेना ने एफएम रेडियो स्टेशन को एलओसी के क़रीब शिफ़्ट करने का फ़रमान जारी किया है. इसके लिए बाकायदा सेना ने अपने सिंगनल कोर को ये काम सौंपा है. फरमान के मुताबिक पाकिस्तान के 10 कोर कमॉडर ने सिंगनल कोर को  पीओके में मौजूद एफएम ट्रांसमिशन स्टेशन को एलओसी के पास शिफ़्ट करने को कहा है. इतना ही नहीं जल्द ही नए एफएम स्टेशन लगाने का भी ऑर्डर दिया गया है.

पूर्व सैनिकों की भर्ती
पाकिस्तान की सेना ने आतंकियों की भर्ती के साथ-साथ अब रिटायर हो चुके सैनिकों को फिर से सेना में भर्ती करने का काम शुरू कर दिया है. ख़ुफ़िया रिपोर्ट के मुताबिक़ पाकिस्तान बडी तादाद में सेना के उन सौनिकों को वापस सेना में शामिल कर रही है. यही नहीं फ़िलहाल उनका मेडिकल टेस्ट किया जा रहा है. ख़ुफ़िया रिपोर्ट में इस बात का भी ख़ुलासा हो चुका है कि किस तरह से पाकिस्तान भारत के साथ एक छोटी जंग लड़ने के लिहाज से अपनी सेना की मौजूदगी को पीओके में बढ़ा रहा है. एसे में नई भर्ती और उनके ट्रेनिंग पूरी कर सेना में शामिल होने में वक़्त लगेगा तो पहले से ही ट्रेंड रिटायर फ़ौजी को शामिल करना उसके लिए ज़्यादा मुफ़ीद साबित होगा.

ये भी पढ़ें:

पाकिस्तान ने 3 दिन के लिए बंद किया कराची एयरस्पेस

विधानसभा में पोर्न देखने वाले नेता इस कारण बने डिप्टी CM

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 12:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...