कश्मीर में हालात बिगाड़ने की हर कोशिश कर रहा पाकिस्तान, सैटेलाइट फोन से आतंकियों को भेज रहा संदेश

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटाए जाने के बाद से घाटी की सुरक्षा में तैनात जवान.

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटाए जाने के बाद से घाटी की सुरक्षा में तैनात जवान.

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में आर्टिकल-370 (Article -370) हटाए जाने के बाद से घाटी में पाकिस्तान आर्मी (Pakistan Army) के सेटेलाइट फोन (satellite phone) बज रहे हैं. पूरे कश्मीर में इस तरह के फोन की संख्या 50 से ज्यादा होने का अनुमान लगाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 16, 2019, 8:35 AM IST
  • Share this:
जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में आर्टिकल-370 (Article -370) हटाए जाने के बाद से बौखलाया पाकिस्तान (Pakistan) घाटी में माहौल बिगाड़ने की कोशिश में जुटा है. आर्टिकल-370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने भारत के साथ राजनयिक संबंध सीमित कर लिए हैं. इसी के साथ पाकिस्तानी पीएम ने कश्मीर मामले को कानूनी दायरे में आगे बढ़ाने के लिए सात सदस्यों की कमेटी भी गठित कर दी है. इसी बीच अब खबर आई है कि पाकिस्तान एक बार फिर कश्मीर का माहौल बिगाड़ने की कोशिश में जुट गया है.



खुफिया एजेंसियों को फोन इंटरसेप्ट के जरिये पता चला है कि घाटी में पाकिस्तान आर्मी के सेटेलाइट फोन बज रहे हैं. खुफिया एजेंसियों से मिले इनपुट के आधार पर अब सेना, अर्धसैनिक बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस को अलर्ट जारी कर दिया गया है. घाटी में मौजूद पाकिस्तान आर्मी के सेटेलाइन फोन को जब्त करने के लिए सर्च ऑपरेशन भी तेज कर दिया गया है. सूत्रों का कहना है कि पिछले 48 घंटे में कई जगहों पर ऐसे सेटेलाइट फोन होने के सबूत मिले हैं, जिनका इस्तेमाल भारतीय सुरक्षा बलों या सिविल प्रशासन नहीं करता है.



Jammu, Kashmir, Jammu Kashmir, Article -370, Pakistan, Imran Khan,
फाइल फोटो






खुफिया एजेंसियों के मुताबिक पूरे कश्मीर में इस तरह के फोन की संख्या 50 से ज्यादा होने का अनुमान लगाया गया है. भारतीय सेना में तकनीकी उपकरणों पर नजर रखने वाली एजेंसी इन सेटेलाइट फोन का पता लगाने का प्रयास कर रही है. बताया जाता है कि ये सेटेलाइट फोन उसी तरह से काम करते हैं, जिसका इस्तेमाल पाकिस्तान की इंटेलीजेंस एजेंसी (आईएसआई) और पाकिस्तानी आर्मी की मिलिट्री ऑपरेशन इकाई करती हैं. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक से सभी फोन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की छह अगस्त को गठित कमेटी के बाद बजने शुरू हुए हैं.
Jammu, Kashmir, Jammu Kashmir, Article -370, Pakistan, Imran Khan,
जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटाए जाने के बाद से घाटी की सुरक्षा में तैनात जवान.




इमरान की बैठक में कौन-कौन हुआ शामिल

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की ओर से बुलाई गई बैठक में विदेश मंत्री, विदेश सचिव, डीजी इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस (आईएसआई), डीजी मिलिट्री ऑपरेशन जीएचक्यू, डीजी इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशन पाकिस्तान (आईएसपीआर) और पीएम के विशेष दूत अहमर बिलाल सूफी को शामिल किया गया था.



पाकिस्तानी आतंकियों के पास है सेटेलाइट फोन

खबर के मुताबिक पाकिस्तानी आतंकी इस तरह के सेटेलाइट फोन का इस्तेमाल करते हैं. ये आतंकी पाकिस्तान में बैठे हुए कश्मीर में अपने स्लीपर सेल को आदेश देते हैं और वह कश्मीर में जगह-जगह वारदात को अंजाम देते हैं. सेना ने उम्मीद जताई है कि घाटी में मौजूद सभी सेटेलाइट फोन को जल्द ही ढूंढ लिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज