Home /News /nation /

कुलभूषण जाधव कर सकेंगे मौत की सजा के फैसले के खिलाफ अपील, अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुका पाकिस्तान

कुलभूषण जाधव कर सकेंगे मौत की सजा के फैसले के खिलाफ अपील, अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुका पाकिस्तान

पाकिस्तान (pakistan) आखिरकार अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुक गया है. वहां की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) अब जल्द ही सजा-ए-मौत के फैसले के खिलाफ अपील कर सकेंगे. 4 साल पहले जासूसी के आरोप में उन्हें मिलिट्री कोर्ट ने यह सजा सुनाई थी. पाकिस्तान के उच्च सदन ने बुधवार को ‘इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (रिव्यू एंड री-कन्सीडरेशन) ऑर्डिनेंस 2020’ को मंजूरी दे दी है.

पाकिस्तान (pakistan) आखिरकार अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुक गया है. वहां की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) अब जल्द ही सजा-ए-मौत के फैसले के खिलाफ अपील कर सकेंगे. 4 साल पहले जासूसी के आरोप में उन्हें मिलिट्री कोर्ट ने यह सजा सुनाई थी. पाकिस्तान के उच्च सदन ने बुधवार को ‘इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (रिव्यू एंड री-कन्सीडरेशन) ऑर्डिनेंस 2020’ को मंजूरी दे दी है.

पाकिस्तान (pakistan) आखिरकार अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुक गया है. वहां की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) अब जल्द ही सजा-ए-मौत के फैसले के खिलाफ अपील कर सकेंगे. 4 साल पहले जासूसी के आरोप में उन्हें मिलिट्री कोर्ट ने यह सजा सुनाई थी. पाकिस्तान के उच्च सदन ने बुधवार को ‘इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (रिव्यू एंड री-कन्सीडरेशन) ऑर्डिनेंस 2020’ को मंजूरी दे दी है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. पाकिस्तान (pakistan) आखिरकार अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुक गया है. वहां की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav), अब जल्द ही सजा-ए-मौत के फैसले के खिलाफ अपील कर सकेंगे. 4 साल पहले जासूसी के आरोप में उन्हें मिलिट्री कोर्ट ने यह सजा सुनाई थी. पाकिस्तान के उच्च सदन ने बुधवार को ‘इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (रिव्यू एंड री-कन्सीडरेशन) ऑर्डिनेंस 2020’ को मंजूरी दे दी है. यह बिल करीब 5 महीने पहले पाकिस्तान के निचले सदन (नेशनल असेंबली) से पास हुआ था.

    बिल के मुताबिक, पाकिस्तान की जेलों में सजायाफ्ता विदेशी कैदी (जिन्हें मिलिट्री कोर्ट्स ने सजा सुनाई है) ऊपरी अदालतों में अपील कर सकेंगे. अब राष्ट्रपति के दस्तखत के बाद यह कानून बन जाएगा.

    ये भी पढ़ें :  पैसे एंठे, प्यार में धोखा दिया, अब प्रेमी ने युवती की सरेआम गोली मारकर की हत्या

    ये भी पढ़ें : खुला करतारपुर कॉरिडोर, पाकिस्तान में दरबार साहिब पहुंचा सिख श्रद्धालुओं का पहला जत्था

    क्या है भारत का पक्ष
    भारत लगातार ये कह रहा है कि जाधव एक पूर्व नौसेना अधिकारी हैं जिन्हें ईरान से किडनैप कर लिया गया था. वो उस दौरान बिजनेस के सिलसिले में वहां पहुंचे थे. किडनैप किए जाने के बाद उन्हें पाकिस्तान की सेना को सौंप दिया गया था. जबकि इस्लामाबाद आरोप लगाता रहा है कि जाधव एक भारतीय जासूस हैं, जो पाकिस्तान के अंदर आतंकी हमले कराने के लिए जिम्मेदार हैं.

    ICJ ने क्या कहा था
    आईसीजे ने जुलाई 2019 में फैसला दिया था कि पाकिस्तान को जाधव को दोषी ठहराने और सजा सुनाने संबंधी फैसले की समीक्षा करनी चाहिए. साथ ही आईसीजे ने कहा था कि बिना किसी देरी के भारत को जाधव के लिए राजनयिक पहुंच उपलब्ध कराने देने का भी मौका देना चाहिए. अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने अपने 2019 के फैसले में पाकिस्तान को, जाधव को दी गई सजा के खिलाफ अपील करने के लिए उचित मंच उपलब्ध कराने को कहा था.

    Tags: Kulbhushan Jadhav, Pakistan

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर