• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • अमेरिका के साथ मजबूत संबंध चाहता है पाकिस्तान, कहा- दोनों को विचार करने की जरूरत

अमेरिका के साथ मजबूत संबंध चाहता है पाकिस्तान, कहा- दोनों को विचार करने की जरूरत

कुरैशी की ओर से संबंधों में सुधार की बात ऐसे समय में आई है जब वाशिंगटन इस्लामाबाद को कड़ा रुख अख्तियार करता नजर आ रहा है.

कुरैशी की ओर से संबंधों में सुधार की बात ऐसे समय में आई है जब वाशिंगटन इस्लामाबाद को कड़ा रुख अख्तियार करता नजर आ रहा है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा, 'पाकिस्तान ने अपना ध्यान भू-राजनीति से भू-अर्थशास्त्र पर स्थानांतरित कर दिया है और अफगानिस्तान सीमा पर सामान्य आर्थिक गतिविधियों के लिए वित्त सहयोग के विकास के माध्यम से अमेरिका के साथ काम कर सकता है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    इस्लामाबाद. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि अफगानिस्तान से सेना की वापसी के बाद पाक और अमेरिका के बिगड़े संबंधों को वो ठीक करना चाहते हैं. न्यूयॉर्क में विदेश संबंध परिषद के सत्र में बोलते हुए महमूद कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान और अमेरिका दोनों के पास व्यापक संबंध बनाने की सामग्री है और वो चाहते हैं कि ये मजबूत हो. महसूद कुरैशी का ये बयान ऐसे समय में आया है जब अमेरिका ने पाकिस्तान के साथ संबंधों का पुनर्मूल्यांकन करने की बात कही है. पिछले दिनों अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने अमेरिकी संसद कांग्रेस में तालिबान के काबुल पर कब्‍जा करने को लेकर दिए अपने बयान में पाकिस्‍तान पर निशाना साधा था.

    जब उनसे अफगानिस्‍तान में पाकिस्‍तान की भूमिका के बारे में सवाल किया गया तो अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा था कि पाकिस्‍तान के अफगानिस्‍तान में बहुत सारे हित हैं जिसमें से कुछ से सीधे अमेरिकी हितों का साफ टकराव होता है. ऐसे हालातों में दोनों देशों के संबंधों पर दोबारा से विचार करने की जरूरत है.

    सत्र को संबोधित करते हुए महमूद कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान की जलवायु, अनुकूल ऊर्जा नीति स्वच्छ और नवीकरणीय ऊर्जा अमेरिकी कंपनियों को अवसर प्रदान करती है. पाकिस्तान ने अपना ध्यान भू-राजनीति से भू-अर्थशास्त्र पर स्थानांतरित कर दिया है और अफगानिस्तान सीमा पर सामान्य आर्थिक गतिविधियों के लिए वित्त सहयोग के विकास के माध्यम से अमेरिका के साथ काम कर सकता है.

    कुरैशी की ओर से संबंधों में सुधार की बात ऐसे समय में आई है जब वाशिंगटन इस्लामाबाद को कड़ा रुख अख्तियार करता नजर आ रहा है. खास बात ये है कि इन दिनों भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अमेरिका दौरे पर हैं. 24 सितंबर को पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की पहली बार मुलाकात होगी. पीएम मोदी और बाइडन की इस मुलाकात पर दुनियाभर की इस पर निगाहें होंगी. इस दौरान डिफेंस, आपसी रिश्ते, भारतीयों के वीजा मुद्दे और ट्रेड पर चर्चा होना तय लग रहा है. ऐसे में पाकिस्तान को डर है कि कहीं दोनों देश मिलकर उसके ऊपर कोई बड़ा एक्शन न ले लें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज