अपना शहर चुनें

States

बड़ी लापरवाही: पाकिस्तान के F-16 जेट्स ने गलत कोड की वजह से घेरा था स्पाइजेट का विमान

गलत कोड की वजह से पाकिस्तान के F-16 ने भारत के स्पाइजेट  विमान को घेरा था
गलत कोड की वजह से पाकिस्तान के F-16 ने भारत के स्पाइजेट विमान को घेरा था

पाकिस्तान (Pakistan) के अधिकारियों की इस समझदारी पर भारत के अधिकारियों ने उनका धन्यवाद कहा है. डीजीसीए (DGCA) अधिकारी ने कहा कि अगर समय रहते पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों (F16) ने समझदारी न दिखाई होती तो स्पाइस जेट (SpiceJet Plane) विमान के साथ बड़ा हादसा हो सकता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2019, 12:41 PM IST
  • Share this:
भारत (India) के स्पाइसजेट विमान (SpiceJet Airline) को पाकिस्तान (Pakistan) के F-16 लड़ाकू विमानों (F-16 Fighter Aircraft) से घेरे जाने के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. इस पूरे मामले में नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) के एक अधिकारी की लापरवाही सामने आई है. बताया जाता है कि अधिकारी ने यात्री विमान को कॉमर्शियल एयरलाइन की जगह मिलिट्री का ट्रांसपोंडर कोड दे दिया था. गौरतलब है कि स्पाइसजेट का बोइंग 737 विमान पिछले महीने दिल्ली से काबुल (Kabul) की ओर जा रहा था, तभी आसमान में उसे पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमानों ने घेर लिया था. गनीमत ये रही कि पाकिस्तान के लड़ाकू विमान ने कोई एक्शन नहीं लिया.

यहां पर जानने वाली बात ये है कि मिलिट्री ट्रांसपोंडर कोड और कॉमर्शियल कोड में अंतर होता है. अगर कॉमर्शियल कोड वाले रास्ते में कोई मिलिट्री कोड वाला विमान उड़ान भरता है तो इसकी जानकारी रडार से उस देश की सुरक्षा एजेंसी को मिल जाती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डीजीसीए ने लापरवाही बरते पर अधिकारी को संस्पेंड कर दिया है.

इसे भी पढ़ें :-स्पाइसजेट दे रही फ्री में घूमने का मौका, जानिए क्या है कंपनी का ऑफर



मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्पाइसजेट एयरक्राफ्ट को गलती से एन 32 कोड दिया गया था, जिसका इस्तेमाल भारतीय सेना की ओर से किया जाता है. ये गलती ऐसे समय पर सामने आई है जब जेट एयरवेज का संचालन पूरी तरह से बंद होने के बाद स्पाइसजेट अपने विमानों को तेजी से बढ़ा रहा है. बताया जाता है कि इतनी बड़ी चूक होने के बाद भी पाकिस्तान के एफ-16 विमान ने भारतीय विमान को बिना नुकसान पहुंचाए अपनी सीमा से बाहर कर दिया. पाकिस्तान के अधिकारियों की इस समझदारी पर भारत के अधिकारियों ने उनका धन्यवाद कहा है. डीजीसीए अधिकारी ने कहा कि अगर समय रहते पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों ने समझदारी न दिखाई होती तो बड़ा हादसा हो सकता था.



120 यात्रियों की सांसे अटकीं
जिस स्पाइसजेट के विमान को पाकिस्तान के F-16 लड़ाकू विमान ने घेरा था उस वक्त इस विमान में 120 यात्री सवार थे. अहम बात यह है कि यह घटना ऐसे समय में हुई है, जब पाक की हवाई सीमा में भारत के प्रवेश पर प्रतिबंध नहीं था. यह घटना पिछले 23 सितंबर की है.

इसे भी पढ़ें :-
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज