कुलभूषण को जासूस साबित कराने के लिए पाक ने खर्च कर दिए 20 करोड़, भारत ने 1 रुपये में जीता केस

पाक के वकील कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से कानून में स्नातक करने वाले कुरैशी आईसीजे में केस लड़ने वाले सबसे कम उम्र के वकील हैं.

News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 8:25 AM IST
कुलभूषण को जासूस साबित कराने के लिए पाक ने खर्च कर दिए 20 करोड़, भारत ने 1 रुपये में जीता केस
पाक के वकील कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से कानून में स्नातक करने वाले कुरैशी आईसीजे में केस लड़ने वाले सबसे कम उम्र के वकील हैं.
News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 8:25 AM IST
पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव का मामला अंतरराष्ट्रीय अदालत में लड़ने के लिए एक ओर भारत ने जहां सिर्फ 1 रुपए खर्च किए वहीं पाक को करोड़ों रुपए खर्च करने पड़े. बता दें जाने माने वकील हरीश साल्वे ने अंतरराष्ट्रीय अदालत में कुलभूषण का केस लड़ने के लिए फीस के तौर पर सिर्फ एक रुपया लिया.

दूसरी ओर पाकिस्तान ने जाधव को जासूस साबित कराने के लिए अपने वकीलों पर 20 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च कर दिया. पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने साल 2017 में किए गए एक ट्वीट में कहा था कि हरीश साल्वे ने जाधव का केस लड़ने के लिए एक रुपये लिया है.

समाचार एजेंसी IANS की एक रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान सरकार ने बीते साल अपनी संसद नेशनल असेंबली में बजट पेश किया जिसमें कहा गया था कि अंतर्राष्ट्रीय अदालत में जाधव का केस लड़ने वाले वकील खावर कुरैशी ने 20 करोड़ रुपये लिए हैं. कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से कानून में स्नातक करने वाले कुरैशी आईसीजे में केस लड़ने वाले सबसे कम उम्र के वकील हैं.

यह भी पढ़ें:  ICJ से मिले न्याय पर देश में खुशी, पीएम बोले- सत्य की जीत

पाकिस्तान की ओर से जाधव के मामले पर इतना खर्च करने को लेकर वहां की सरकार को आलोचना का सामना करना पड़ा था.

हरीश साल्वे ने फैसले पर कहा कि...

बता दें कुलभूषण पर फैसले के बाद  हरीश साल्वे ने लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग में कहा कि फैसले में कहा गया है कि ‘जाधव को सुनाई गयी सजा पर फिर से विचार करना चाहिए. इसके अनुसार उसे राजनयिक पहुंच दी जानी चाहिए. पाकिस्तान ने विएना समझौते का उल्लंघन किया है.' साल्वे ने कहा कि  'इससे बहुत सारी उम्मीद है. फैसले ने कानून के शासन में, आईसीजे में और व्यवस्थाओं में हमारा विश्वास बहाल किया है.'
Loading...

यह भी पढ़ें:  ICJ के फैसले को इमरान सरकार की जीत बता रहा पाक मीडिया

साल्वे ने कहा, ‘एक वकील के तौर पर मैं संतुष्ट हूं. फैसले से राहत महसूस हुई.अदालत ने कहा कि फांसी देने का तो सवाल ही नहीं है...इसलिए मैं बहुत खुश हूं.’ साल्वे ने कहा कि 'भारत के लिए अगला कदम यह सुनिश्चित करना है कि जाधव मामले की पाकिस्तान के कानून के तहत निष्पक्ष सुनवाई हो और उसे न्याय मिले.' उन्होंने आईसीजे के फैसले को न्याय की जीत बताया.

First published: July 18, 2019, 7:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...