गिलगित-बाल्टिस्‍तान में पाकिस्‍तान करा रहा अवैध चुनाव, भारत ने कहा- कोई अधिकार नहीं

पाकिस्‍तान की नई चाल आई सामने. (Pic- AP File)
पाकिस्‍तान की नई चाल आई सामने. (Pic- AP File)

India-Pakistan Tension: भारत ने विरोध दर्ज कराते हुए कहा है कि रणनीतिक रूप से गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र भारत के जम्मू-कश्मीर राज्‍य का अहम हिस्सा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2020, 2:18 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारत (India) के खिलाफ लगातार आतंकी साजिश (Terrorists) रचने वाला पाकिस्‍तान (Pakistan) अब एक और नई चाल चल रहा है. दरअसल पिछले दिनों पाकिस्‍तान की इमरान सरकार ने गिलगित-बाल्टिस्‍तान (Gilgit baltistan) को अस्‍थाई राज्‍य का दर्जा देने की चाल चली थी. अब वह अपने कब्‍जे वाले इस इलाके में रविवार को अवैध तरीके से चुनाव करा रहा है. इस पर भारत ने भी कड़ा विरोध जताया है. भारत ने साफ-साफ कहा है कि पाकिस्‍तान को इस क्षेत्र में चुनाव कराने का कोई अधिकार नहीं है.

भारत ने विरोध दर्ज कराते हुए कहा है कि रणनीतिक रूप से गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र भारत के जम्मू-कश्मीर राज्‍य का अहम हिस्सा है. इस हिस्‍से पर पाकिस्‍तान ने अवैध रूप से कब्‍जा किया हुआ है. इस मामले में विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी किया है. विदेश मंत्रालय ने कहा है, 'हमने 15 नवंबर, 2020 को होने वाले तथाकथित गिलगित-बाल्टिस्तान विधानसभा के लिए चुनाव की घोषणा के संबंध में रिपोर्ट देखी हैं. हम पाकिस्तान के इस कदम का कड़ा विरोध करते हैं.'

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारत फिर से यह बताता है कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के साथ-साथ गिलगित-बाल्टिस्तान भी 1947 से ही भारत का अभिन्न अंग हैं. रविवार यानी आज गिलगित-बाल्टिस्तान चुनाव के जरिये वहां की विधानसभा के प्रतिनिधि चुने जाने हैं. बता दें कि पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने हाल ही में गिलगित-बाल्टिस्तान में एक जनसभा की थी. तब इमरान खान ने उस इलाके को अंतरिम प्रांत का दर्जा देने का एलान किया था.

अब इस बात की आशंका जताई जा रही है कि इन चुनाव के बाद गिलगित-बाल्टिस्तान को पाकिस्तान का एक प्रांत घोषित कर दिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज