फिर टूटी इमरान खान की तंद्रा, कश्मीर पर अमेरिका से हस्तक्षेप की गुहार

इमरान खान का मानना है कि अमेरिका कश्मीर का हल तलाश सकता है. (तस्वीर-ImranKhanOfficial Facebook)

इमरान (Imran Khan) ने कहा, 'अमेरिका पर बड़ी जिम्मेदारी है. वो दुनिया का सबसे ताकतवर मुल्क है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के रिजोल्यूशन के मुताबिक कश्मीर एक विवादित क्षेत्र है. क्षेत्र के भविष्य को लेकर कश्मीर के लोगों के बीच एक जनमत संग्रह करवाना बेहद जरूरी है. ऐसा कभी नहीं हुआ. अगर अमेरिकी इसका समाधान तलाशेंगे तो जरूर कोई रास्ता निकलेगा.'

  • Share this:
    नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के मसले (Jammu-Kashmir Issue) पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की तंद्रा एक बार फिर टूटी है. अब उन्होंने इस मुद्दे पर एक बार फिर अमेरिका से हस्तक्षेप की मांग कर डाली है. माना जा रहा है कि इमरान की इस मांग पर दिल्ली की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया दी जा सकती है क्योंकि भारत हमेशा से कश्मीर के मुद्दे पर बाहरी हस्तक्षेप का विरोध करता रहा है.

    दरअसल HBO चैनल को दिए एक इंटरव्यू में इमरान खान ने कहा, 'मैंने जो बाइडन के राष्ट्रपति बनने के बाद से अब तक कोई बातचीत नहीं की है. बाइडन के साथ मुलाकात जब भी होगी कश्मीर का मुद्दा उठाएंगे.'

    क्या बोले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री
    इमरान ने कहा, 'अमेरिका पर बड़ी जिम्मेदारी है. वो दुनिया का सबसे ताकतवर मुल्क है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के रिजोल्यूशन के मुताबिक कश्मीर एक विवादित क्षेत्र है. क्षेत्र के भविष्य को लेकर कश्मीर के लोगों के बीच एक जनमत संग्रह करवाना बेहद जरूरी है. ऐसा कभी नहीं हुआ. अगर अमेरिकी इसका समाधान तलाशेंगे तो जरूर कोई रास्ता निकलेगा.'

    भारत की तरफ से नहीं आई है कोई प्रतिक्रिया
    इमरान खान के बयान पर अब तक भारत की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है. हालांकि पूर्व में भारत की तरफ से किसी भी तरह की मध्यस्थता से इनकार किया जाता रहा है. हाल में जम्मू-कश्मीर में किसी भी बदलाव का इस्लामाबाद की तरफ से विरोध किए जाने पर दिल्ली ने साफ किया था कि जम्मू-कश्मीर उसका अभिन्न अंग है. यहां तक कि भारत के किसी भी फैसले में दखल देने को आंतरिक मसलों में दखल माना जाएगा.

    बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 जून को जम्मू-कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों से मिल रहे हैं. माना जा रहा है कि जल्द ही जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा दिया जा सकता है और चुनाव हो सकते हैं. केंद्र सरकार ने 2019 में जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा छीनकर उसे दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभक्त कर दिया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.