पाकिस्तान को सता रहा है भारत के हमले का डर, हुई हाई प्रोफाइल बैठक

News18Hindi
Updated: August 17, 2019, 7:28 PM IST
पाकिस्तान को सता रहा है भारत के हमले का डर, हुई हाई प्रोफाइल बैठक
कश्मीर (Kashmir) के हालात पर शनिवार को पाकिस्तान (Paksitan) के शीर्ष अधिकारियों ने बैठक की. इस बैठक के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mohammad Qureshi ) और पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

कश्मीर (Kashmir) के हालात पर शनिवार को पाकिस्तान (Paksitan) के शीर्ष अधिकारियों ने बैठक की. इस बैठक के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mohammad Qureshi ) और पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 17, 2019, 7:28 PM IST
  • Share this:
भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) के संबंध एक बार फिर तनावपूर्ण हो चले हैं, वजह है जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) से भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 (Article 370) को हटाया जाना. पाकिस्तान मोदी सरकार (Modi Government) के इस फैसले से बौखलाया हुआ है. वह पूरी दुनिया में इस मुद्दे को उठाकर भारत को घेरने की कोशिश में लगा हुआ, हालांकि उसकी ये कोशिश बिल्कुल भी कामयाब नहीं हो पा रही है.

कश्मीर के हालात पर शनिवार को पाकिस्तान के शीर्ष अधिकारियों ने बैठक की. इस बैठक के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी  (Shah Mehmood Qureshi) और पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर (Major General Asif Gafoor) ने एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की. आसिफ गफूर ने कहा कि ऐसा हो सकता है कि कश्मीर (Kashmir) मुद्दे से दुनिया का ध्यान भटकाने के लिए भारत पाकिस्तान पर हमला कर सकता है.

गफूर ने कहा पाकिस्तान किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि नियंत्रम रेखा पर अतिरिक्त सैनिक तैनात किए गए हैं. अचानक युद्ध की चेतवानी देते हुए गफूर ने कहा कि कश्मीर मुद्दा एक न्यूक्लियर फ्लैशपॉइंट (Nuclear Flash point) है.

शाह महमूद कुरैशी ने कही ये बात

वहीं पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि कश्मीर मुद्दे को वैश्विक स्तर पर लाने के लिए सभी दूतावासों में कश्मीरी नागरिकों को नियुक्त किया जाएगा. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) को लेकर उन्होंने कहा कि हमने कश्मीर मुद्दे को बहुत ऊपर तक उठाया है, जो कि एक बड़ी सफलता रही.

उन्होंने कहा, "यूएनएससी में यह मामला पांच दशकों बाद उठाया गया और इस पर चर्चा हुई जो कि एक अच्छा कदम है. खासकर तब जब भारत ने इसे रोकने की पूरी कोशिश की. उन्होंने कहा कि बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि इसे किस तरह आगे बढ़ाया जाए.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता की गीदड़भभकी, कहा- कश्मीर पर परमाणु युद्ध का खतरा
Loading...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 17, 2019, 6:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...