कश्मीर के पुंछ में LoC के पास पाकिस्तान ने की गोलाबारी

जम्मू कश्मीर के पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास सोमवार को पाकिस्तान की ओर से भारी गोलाबारी की गई (सांकेतिक फोटो)
जम्मू कश्मीर के पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास सोमवार को पाकिस्तान की ओर से भारी गोलाबारी की गई (सांकेतिक फोटो)

रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) ने अपराह्न ढाई बजे के आसपास मोर्टार (mortar) दागे और छोटे हथियारों (Small arms) से गोलीबारी शुरू की. उन्होंने कहा कि इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. प्रवक्ता ने अनुसार अंतिम समाचार (Last News) मिलने तक सीमा पार से गोलाबारी जारी थी.

  • भाषा
  • Last Updated: September 21, 2020, 5:53 PM IST
  • Share this:
जम्मू. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के पुंछ सेक्टर (Poonch Sector) में नियंत्रण रेखा (LoC) के पास सोमवार को पाकिस्तान (Pakistan) की ओर से भारी गोलाबारी की गई जिसके बाद भारतीय सेना (Indian Army) ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया. एक रक्षा प्रवक्ता (Defence Spokesperson) ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि सीमापार स्थित शाहपुर, किरनी और कस्बा सेक्टर (Kasba Sector) से “बिना उकसावे” के गोलाबारी की गई और यह दोनों पक्षों के बीच हुए संघर्ष विराम समझौते (Ceasefire agreement) का उल्लंघन था.

प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) ने अपराह्न ढाई बजे के आसपास मोर्टार (mortar) दागे और छोटे हथियारों (Small arms) से गोलीबारी शुरू की. उन्होंने कहा कि इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. प्रवक्ता ने अनुसार अंतिम समाचार (Last News) मिलने तक सीमा पार से गोलाबारी जारी थी.

सेना प्रमुख LoC के पास स्थिति का जायजा लेने जम्मू कश्मीर का दौरा किया था
इससे पहले 17 सितंबर को सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे दो दिवसीय दौरे पर श्रीनगर गये थे और उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास की स्थिति का जायजा लिया. रक्षा प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी दी. एक बयान में 15 वीं कोर के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि ऊंचाई वाले क्षेत्रों में तैनात सैनिकों के साथ संवाद के दौरान सेना प्रमुख ने उनके मजबूत मनोबल की सराहना की और पाकिस्तान की तरफ से संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं पर उनकी कार्रवाई की तारीफ की.
यह भी पढ़ें: आत्मनिर्भर भारत के लिए बड़ा प्लान, 24 सेक्टर्स में घरेलू उत्पादन बढ़ाने पर जोर



सेना प्रमुख ने प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से एलओसी के पास दिन-रात प्रभावी निगरानी सुनिश्चित करने के कदमों की भी सराहना की . इससे हालिया समय में घुसपैठ के कई प्रयासों को नाकाम करने में मदद मिली है. जनरल नरवणे ने सीमाई क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों की भी हरसंभव मदद करने को कहा. प्रवक्ता ने बताया कि बाद में उन्होंने भीतरी क्षेत्र में तैनात कमांडरों और सैनिकों के साथ बातचीत की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज