UNHRC में आज कश्मीर का मुद्दा उठाएगा पाकिस्तान, भारत भी मुंहतोड़ जवाब देने को तैयार

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आर्टिकल-370 (Article 370) हटाए जाने के बाद पाकिस्तान (Pakistan) ने ये मुद्दा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में उठाया था लेकिन वहां पर उसे मुंह की खानी पड़ी थी. चीन को छोड़कर अन्य किसी भी देश ने पाकिस्तान का कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान का साथ नहीं दिया था.

News18Hindi
Updated: September 9, 2019, 5:19 AM IST
UNHRC में आज कश्मीर का मुद्दा उठाएगा पाकिस्तान, भारत भी मुंहतोड़ जवाब देने को तैयार
संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में आज कश्मीर का मुद्दा उठाएगा पाकिस्तान
News18Hindi
Updated: September 9, 2019, 5:19 AM IST
जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आर्टिकल-370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से बौखलाया पाकिस्तान (Pakistan) कश्मीर का मुद्दा अब संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में उठाने जा रहा है. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) का सत्र आज से शुरू हो रहा है. पाकिस्तान की पूरी कोशिश है कि वह यूएनएचआरसी में भारत को कश्मीर के मुद्दे पर घेर सके. हालांकि भारत ने जिस तरह से अपनी तैयारी की है उसे देखने के बाद लगता है कि पाकिस्तान को एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय मंच पर शर्मसार होना पड़ेगा. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी 9 से 27 सितंबर तक जिनेवा में होने वाले इस सत्र में भारत के खिलाफ पाकिस्तान का नेतृत्व करेंगे. गौरतलब है कि अगर पाकिस्तान को कश्मीर के मुद्दे पर कोई प्रस्ताव लाना है तो उसे 19 सितंबर से पहले ऐसा करना होगा.

जिनेवा और दिल्ली में मौजूद राजनयिकों और सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक पाकिस्तान दुनिया के सामने कश्मीर का दुष्प्रचार कर रहा है. इसी के साथ पाकिस्तान लगातार कोशिश कर रहा है कि किसी तरह कश्मीर में हिंसा फैलाई जा सके, जिससे दुनिया के सामने वह अपनी बात रख सके. हालांकि पाकिस्तान अपने मंसूबों में कामयाब होता नहीं दिखाई दे रहा है.

Jammu and Kashmir, Article 370, Pakistan, S. Jaishankar, Ministry of External Affairs, Mehmood Qureshi
जिनेवा में होने वाला संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद का सत्र 9 से 27 सितंबर तक चलेगा.


बता दें कि भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर यूएनएचआरसी के सभी 47 सदस्यों से व्यक्तिगत तौर पर मिल चुके हैं और उन्होंने कश्मीर की स्थिति से उन्हें अवगत कराया है. वहीं दूसरी तरफ राष्ट्रीय सलाहकार अजीत डोभाल ने कश्मीर में आंतरिक स्थिति को संभाला है. ऐसे में अब जरूरी हो गया है कि कश्मीर में उसी तरह से शांति बनी रहे जैसे अभी तक बनी हुई है. पाकिस्तान यूएनएचआरसी में कश्मीर के मुद्दे पर बहस या प्रस्ताव की मांग कर सकता है. बताया जा रहा है कि पाकिस्तान कश्मीर में कथित तौर पर मानवाधिकार के उल्लंघन का हवाला देते हुए प्रस्ताव ला सकता है और इस पर मतदान भी करवाने की अपील कर सकता है.

Jammu and Kashmir, Article 370, Pakistan, S. Jaishankar, Ministry of External Affairs, Mehmood Qureshi
जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से हालात काफी सामान्य बने हुए हैं.


यूएनएससी में पाकिस्तान को मिली थी हार
जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल-370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान ने ये मुद्दा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उठाया था लेकिन वहां पर उसे मुंह की खानी पड़ी थी. चीन को छोड़कर अन्य किसी भी देश ने पाकिस्तान का कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान का साथ नहीं दिया था. रिपोर्ट के मुताबिक, रूस और अमेरिका जैसे देशों ने इसे भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मामला बताया था. गौरतलब है कि अनुच्छेद 370 को लेकर चीन और पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में गलत आंकड़े पेश किए और भारत की छवि खराब करने की कोशिश की लेकिन उसे अन्य देशों का सहयोग नहीं मिला.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 9, 2019, 5:19 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...