पाकिस्तानी घुसपैठियों की अब खैर नही! हरामी नाला बॉर्डर 3 तरफ से सील

पाकिस्तानी घुसपैठियों की अब खैर नही! हरामी नाला बॉर्डर 3 तरफ से सील
सांकेतिक तस्वीर

Harami Nala: बीएसएफ ने यहां 22 किलोमीटर लंबी सकड़ बना दी है. इस सड़क पर दोनों तरफ फ्लड लाइट भी लगाए गए हैं. आम लोगों के लिए पूर्ण रूप से प्रतिबंधित इस क्षेत्र में 8 किमी लंबा खतरनाक दलदल है, ये वॉटर चैनल करीब पांच सौ वर्ग किमी में फैला है.

  • Share this:
कच्छ. गुजरात तट के पश्चिमी बॉर्डर को सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने सील कर दिया है. इस इलाके को हरामी नाला (Harami Nala) कहा जाता है. ऐसा पाकिस्तानी घुसपैठियों को रोकने के लिए किया गया है.  इसे तीन तरफ से सील कर दिया है. मीडिया रोपिर्ट्स के मुताबिक, बीएसएफ ने यहां 22 किलोमीटर लंबी सकड़ बना दी है. इस सड़क पर दोनों तरफ फ्लड लाइट भी लगाए गए हैं. इसके अलवा सड़क पर जगह-जगह दुश्मनों पर नजर रखने के लिए पोस्ट भी लगाए गए हैं.

 तीन तरफ से सील
हिंदी अखबार दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए बीएसएफ गुजरात फ्रंटियर के आईजी जीएस मलिक ने कहा, 'हरामी नाला सुरक्षा के लिए सबसे बड़ी चुनौती थी. यहां से पाकिस्तानी मछुआरे घुसते थे. घुसपैठ की भी आशंका रहती थी. अब हमने यहां नाले को तीन ओर से सील कर दिया है. नाले के मुहाने तक सड़क बनाई गई है. इसके अलावा निगरानी के लिए यहां नए निर्माण भी किए जा रहे हैं.'

घुसपैठ का रास्ता
बता दें कि भारत में घुसपैठ करने के लिए पाकिस्तान लगातार साजिश रचता रहा है. जम्मू और कश्मीर समेत दूसरे रास्तों पर भारत की लगातार चौकसी के चलते पाकिस्तान अपने आतंकियों को भारत की सीमा में भेजने में नाकाम साबित हो रहा था. ऐसे में उसने भारत में घुसपैठ के लिए समुद्री सीमा का सहारा लेना शुरू कर दिया था. लिहाजा गुजरात में भारत-पाकिस्तान सीमा के निकट हरामी नाला क्रीक में मछली पकड़ने के बहाने घुसपैठ की कोशिश करते थे.



ये भी पढ़ें:-Rajasthan: सीएम का दावा- सत्र की तारीख आते ही हॉर्स ट्रेडिंग का ‘रेट’ बढ़ा

क्या है हरामी नाला?
>> हरामी नाला गुजरात के कच्‍छ इलाके में है. ये भारत और पाकिस्‍तान को बांटने वाला 22 किमी लंबा समुद्री चैनल है.

>>ये दोनों देशों के बीच सर क्रीक इलाके की 96 किलोमीटर विवादित सीमा का हिस्‍सा है. यहां पानी का स्‍तर ज्‍वार-भाटे और मौसम की वजह से लगातार बदलता रहता है. इसीलिए इसे बेहद खतरनाक भी माना जाता है.

>>आम लोगों के लिए पूर्ण रूप से प्रतिबंधित इस क्षेत्र में 8 किमी लंबा खतरनाक दलदल है, ये वॉटर चैनल करीब पांच सौ वर्ग किमी में फैला है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading