कोरोना: पाकिस्तानी कोर्ट में US के खिलाफ याचिका, मांगा 20 अरब डॉलर हर्जाना

कोरोना: पाकिस्तानी कोर्ट में US के खिलाफ याचिका, मांगा 20 अरब डॉलर हर्जाना
पाकिस्तान में अमेरिका से कोरोना फैलाने के लिए मांगा 20 अरब डॉलर का हर्जाना

कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित एक व्यक्ति ने अमेरिका (US) के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर की है. इस शख्स ने कोरोना संक्रमण के एवज में अमेरिका से 20 अरब डॉलर का हर्जाना देने के लिए कहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 10, 2020, 12:45 PM IST
  • Share this:
लाहौर. पाकिस्तान (Pakistan) में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित एक व्यक्ति ने अमेरिका (US) के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर की है. इस शख्स ने कोरोना संक्रमण के एवज में अमेरिका से 20 अरब डॉलर का हर्जाना देने के लिए कहा है. इस शख्स की याचिका पर इस्लामाबाद की एक अदालत ने लाहौर स्थित अमेरिकी दूतावास के महावाणिज्य दूत और विदेश मंत्रालय को नोटिस भी जारी कर दिया है.

लाहौर निवासी रज़ा अली ने के वकील सैयद जिले हुसैन ने इस्लामाबाद की एक निचली अदालत में ये याचिका दायर की है. दायर याचिका में आरोप लगाया गया है कि कोरोना वायरस के कारण उन्हें और पाकिस्तान को हुए नुकसान के लिए अमेरिका जिम्मेदार है. याचिका में आरोप लगाया गया है कि इस महामारी के प्रसार के पीछे अमेरिका है. न्यायाधीश कामरान करामात ने अमेरिकी दूतावास, अमेरिकी महावाणिज्य दूत, अमेरिकी रक्षा मंत्री (महावाणिज्य दूत के जरिए) और विदेश मंत्रालय को नोटिस जारी कर सात अगस्त तक जवाब मांगा. याचिकाकर्ता ने कहा कि उनके परिवार के सदस्य भी इस वायरस से संक्रमित हैं और उनका स्वास्थ्य इतना खराब हो चुका है कि वे कभी भी स्वस्थ जीवन नहीं जी सकेंगे.

याचिका में कहा गया है कि अमेरिका में कोविड-19 के अनियंत्रित प्रसार के कारण पाकिस्तान सहित पूरी दुनिया में यह महामारी फैली. याचिका में आरोप लगाया गया है कि मौजूदा अमेरिकी प्रशासन कोरोना वायरस के खिलाफ वैश्विक अभियान के लिए बाधा पैदा कर रहा है. याचिकाकर्ता ने अदालत से यह व्यवस्था देने का आग्रह किया कि कोविड-19 अमेरिका के कारण फैला. याचिका में उनके लिए 20 अरब डॉलर की वसूली का आदेश जारी करने का भी अनुरोध किया गया है.



पाकिस्तान में कोविड-19 के मामले 2,40,000 के पार
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों से उत्पन्न चुनौतियों से निपटने के उद्देश्य से गुरुवार को संक्रामक रोगों के लिए विशेष अस्पताल का उद्घाटन किया जो कि देश का पहला ऐसा अस्पताल है. पाकिस्तान में कोविड-19 के कुल मामले 2,40,000 से अधिक हो गए हैं और इससे करीब पांच हजार लोगों की जान जा चुकी है. 250 बिस्तर वाले ‘आइसोलेशन हॉस्पिटल एंड इन्फैक्शियस ट्रीटमेंट सेंटर’ (आईएचआईटीसी) का निर्माण रिकार्ड 40 दिन में किया गया है.



पीएम इमरान ने अस्पताल के उद्घाटन के बाद संवाददाताओं से बातचीत में लोगों से अपील की कि वे ईद उल अजहा पर एक-दूसरे से दूरी बनाये रखने के नियम का पालन करें जो कि 31 जुलाई को मनाये जाने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि हो सकता है कि मई में 'ईद उल फितर के मौके पर लापरवाही' के चलते मरीजों की संख्या बढ़ी हो और अस्पतालों पर दबाव बना हो. खान ने कहा 'आज मैं आप सबसे विशेष अपील करना चाहता हूं. अगर हम ईद उल अजहा पर लापरवाही बरते तो वायरस एक बार फिर से फैल सकता है और संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ सकते हैं. अस्पतालों पर फिर से दबाव बन सकता है.' इस मौके पर खान के साथ सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा भी मौजूद थे. खान ने लोगों से ईद उल अजहा का त्योहार सामान्य तरीके से मनाने की अपील की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading