पाकिस्तानी विपक्ष बोला, आदतन झूठे और आतंकवादियों के हिमायती हैं इमरान खान

पाकिस्तानी विपक्षी पार्टी ने कहा है कि इमरान खान ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को गुमराह करने की कोशिश की, जबकि सच्चाई यह है कि पिछले 20 साल से अधिक समय से लोकतंत्र के खिलाफ साजिश में वह एक प्यादा रहे हैं

News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 8:52 PM IST
पाकिस्तानी विपक्ष बोला, आदतन झूठे और आतंकवादियों के हिमायती हैं इमरान खान
पाकिस्तानी विपक्ष ने इमरान खान को झूठ बोलने की आदत से मजबूर बताया है (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 8:52 PM IST
पाकिस्तान की विपक्षी पार्टियों ने बुधवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री इमरान खान 'आदतन झूठे' और आतंकवादियों के हिमायती हैं. विपक्षी पार्टियों ने यह भी कहा कि इमरान खान ने अमेरिका की यात्रा के दौरान अंतरराष्ट्रीय समुदाय को गुमराह करने की अपनी ओर से पूरी कोशिश की है.

प्रधानमंत्री इमरान खान के अमेरिकी थिंक टैंक को संबोधित किये जाने पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) की महासचिव नफीसा शाह ने एक बयान में कहा कि आतंकी गतिविधियों के पीड़ित लोग इमरान खान को ‘बिना दाढ़ी वाला तालिबान खान' कहा करते हैं.

विपक्षी पार्टियां बोलीं, आत्मविश्वास के साथ झूठ बोलते हैं इमरान खान
पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) की महासचिव नफीसा शाह ने यह भी कहा, 'प्रधानमंत्री इमरान खान न सिर्फ भ्रष्ट हैं, बल्कि आतंकवादियों के हिमायती भी हैं.' उन्होंने कहा, 'इमरान खान जिस यकीन के साथ झूठ बोलते हैं उसके लिए उन्हें गोएबल्स अवार्ड मिलना चाहिए. अभ्यास से ही आत्मविश्वास आता है और इमरान खान दशकों से ऐसा कर रहे हैं.' उन्होंने यह भी कहा कि इमरान खान ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को गुमराह करने की कोशिश की, जबकि सच्चाई यह है कि पिछले 20 साल से अधिक समय से लोकतंत्र के खिलाफ साजिश में वह एक प्यादा (मोहरा) रहे हैं.

विपक्षी पार्टियों ने कहा, तालिबान की तरह इमरान खान भी नहीं सुन सकते असहमति की आवाज
नफीसा ने कहा, 'इमरान खान में तालिबान की तरह ही सहिष्णुता का अभाव है. वह ठीक तालिबान की तरह असहमति की कोई आवाज नहीं सुन सकते.' एक अन्य मुख्य विपक्षी दल पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) प्रमुख एवं नेशनल असेंबली में विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ ने कहा कि इमरान खान ने यह कह कर अपनी तानाशाह मनोदशा को प्रकट कर दिया है कि देश में मीडिया को नियंत्रित करने की जरूरत है.

उन्होंने कहा कि इमरान खान ने एक बार फिर से साबित कर दिया है कि वह प्रधानमंत्री पद पर सबसे अयोग्य व्यक्ति हैं क्योंकि वह बस में सफर करने जैसे हथकंडे पर अधिक ध्यान दे रहे हैं.
Loading...

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान में सक्रिय थे 40 आतंकी संगठन, इमरान खान ने माना
First published: July 24, 2019, 8:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...