पुलवामा जैसा हमला करने के फिराक में आतंकी, IED और स्नाइपर गन से हमले की आशंका

खुफिया सूत्रों के मुताबिक आतंकवादी आतंकी बुरहान वानी की बरसी पर भारतीय सुरक्षाबलों से बदला ले सकते हैं.

News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 11:31 AM IST
पुलवामा जैसा हमला करने के फिराक में आतंकी, IED और स्नाइपर गन से हमले की आशंका
बुरहान वानी की बरसी पर पुलवामा जैसा हमला करने के फिराक में आतंकी
News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 11:31 AM IST
जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकी हमले की साजिश रची जा रही है. खुफिया सूत्रों के मुताबिक आतंकवादी आतंकी बुरहान वानी की बरसी पर भारतीय सुरक्षाबलों से बदला ले सकते हैं. खबर है कि आतंकी इस बार आईईडी और स्नाइपर गन से खौफनाक हमले को अंजाम देने के फिराक में हैं. खुफिया एजेंसियों से मिले इनपुट के बाद अलर्ट जारी कर दिया गया है.

खुफिया एजेंसी से मिली जानकारी के मुताबिक आतंकी इस बार भी पुलवामा जैसा बड़ा हमला करने की प्लानिंग कर रहे हैं. पाकिस्तानी आतंकी नेशनल हाईवे पर सुरक्षाबलों पर स्नाइपर गन से हमला कर सकते हैं. इसी के साथ इस बार आतंकी नक्सलियों की तरह ही आईआईडी ब्लास्ट से भी भारतीय सुरक्षाबलों पर निशाना साध सकते हैं.

इसे भी पढ़ें :- जम्मू-कश्मीर: 19 साल से आतंकियों का गढ़ क्यों बना हुआ है पुलवामा?

अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक 6 से 8 पाकिस्तानी आतंकियों को भारतीय सुरक्षाबलों पर हमले का काम सौंपा गया है. आतंकियों की इस टीम में एक स्नाइपर एक्सपर्ट भी शामिल है. कश्मीर में छुपकर रह रहे आतंकियों ने अपने नाम बदल लिए हैं और कश्मीर के लोगों के बीच ही घुल-मिलकर रह रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :- आतंकियों ने फिर रची थी पुलवामा दोहराने की साजिश, सतर्कता से कम हुआ नुकसान

गौरतलब है कि 8 जुलाई 2016 को आतंकी बुरहान वानी को सुरक्षा बलों ने एक ऑपरेशन में मार गिराया था. इसके बाद 14 फरवरी को आतंकियों ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था. इस हमले में 40 जवानों की मौत हो गई थी. इस हमले के 13 दिन बाद ही भारतीय वायुसेना ने बालाकोट पर एयर स्ट्राइक की. बताया जाता है कि इस हमले में सैकड़ों आतंकी मारे गए थे और कई आतंकी कैंप ध्वस्त कर दिए गए थे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 6, 2019, 11:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...