रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के सामने पैंगॉन्ग झील के पास पैरा कमांडोज ने किया युद्धाभ्यास

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के सामने पैंगॉन्ग झील के पास पैरा कमांडोज ने किया युद्धाभ्यास
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह दो दिवसीय लद्दाखऔर जम्मू-कश्मीर के दौरे पर लेह पहुंच गए हैं.

पूर्वी लद्दाख (Ladakh) के गलवान घाटी (Galwan valley) में भारत और चीन की सेनाओं के बीच जब हिंसक झड़प हुई तक आगरा और दूसरी जगहों से पैरा कमांडोज को लद्दाख भेजा गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 17, 2020, 11:56 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) अपने दो दिवसीय लद्दाख (Ladakh) और जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के दौरे पर लेह के स्टकना पहुंच गए हैं. इस दौरान रक्षामंत्री राजनाथ सिंह लेह में चीन के साथ चल रहे विवाद के दौरान भारतीय सीमा की सुरक्षा व्यवस्था का जाजया ले रहे हैं. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के स्टकना पहुंचने पर पैरा कमांडोज ने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया. इस दौरान पैरा कमांडोज ने पैंगॉन्ग झील के पास युद्धाभ्यास किया.

बता दें कि पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में भारत और चीन की सेनाओं के बीच जब हिंसक झड़प हुई तक आगरा और दूसरी जगहों से पैरा कमांडोज को लद्दाख भेजा गया था. चीन के साथ बढ़े तनाव को देखते हुए दोनों देशों के बीच युद्ध जैसे हालात बन गए थे. मामले की गंभीरता को देखते हुए लद्दाख की ऊंची पहाड़ी वाले इलाके जैसे गलवान घाटी, पैंगॉन्ग लेक और दौलत बेग ओल्डी में पैरा कमांडोज की तैनाती की गई थी.


बता दें कि भारत और चीन के बीच बढ़े तनाव को कम करने के लिए सैन्य कमांडर स्तर की बातचीत जारी है. चीन की सेना कई इलाकों से पीछे भी हट गई है लेकिन अब किसी भी तरह से चीन के साथ धोखे में फंसना नहीं चाहता है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में पैंगॉन्ग झील के पास पैरा कमांडोज ने युद्ध अभ्यास किया है.



बता दें कि पैंगॉन्ग झील वही इलाका है जहां पर भारत और चीन के सैनिक आमने सामने आ गए थे. भारत रक्षामंत्री की मौजूदगी में एक बार ​फिर चीन को अपनी ताकत का एहसास करा रहा है.रक्षा मंत्री के साथ इस दौरान चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवाने भी मौजूद हैं.

इसे भी पढ़ें :- लेह पहुंचे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, फॉरवर्ड लोकेशन पर जवानों से कर रहे बात

वायुसेना भी हर मोर्चे के लिए है तैयार
सेना के साथ ही वायुसेना भी चीन की हर हरकत पर पैनी नजर रख रही है. भारतीय वायुसेना के कई हेलिकॉप्टर भी इस दौराना पैंगॉन्ग झील के पास उड़ते दिखाई दे रहे हैं. किसी भी युद्ध की स्थिति में जल के साथ वायुसेना के बीच भी तालमेल होना बेहद आवश्यक होता है. यही कारण है कि आज की युद्धाभ्यास में थल और वायु सेना एक साथ अभ्यास करती दिखाई दे रही हैं.

इसे भी पढ़ें :- राजनाथ सिंह सुरक्षा हालात का जायजा लेने लेह पहुंचे, देखिए Photos

राजनाथ सिंह से पहले पीएम मोदी गए थे लेह
बता दें कि गलवान घाटी में हिं​सक झड़प के बाद जुलाई के पहले हफ्ते में ही राजनाथ सिंह को लेह जाना था, लेकिन तब अचानक उनका दौरा रद्द हो गया था. इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद लेह पहुंच गए थे. इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने लद्दाख में मौजूद सेना को संबोधित भी किया. इस दौरान पीएम ने सेना के जवानों का हौसला बढ़ाया साथ ही घायल सैनिकों से अस्पताल में मिलने भी पहुंचे थे. बता दें कि पीएम की इस रैली के बाद ही चीन और भारत के बीच टकराव वाले इलाके से पीछे जाने को लेकर बात बनी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज