परमबीर सिंह का आरोप, अनिल देशमुख ने वाजे को दिया था 100 करोड़ का टारगेट: रिपोर्ट्स

मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद से हटाए जा चुके हैं परमबीर सिंह (File Photo)

मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद से हटाए जा चुके हैं परमबीर सिंह (File Photo)

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, परमबीर सिंह (Parambir Singh) ने खत में लिखा है-'गृह मंत्री ने सचिन वाजे से कहा था कि उन्हें हर महीने सौ करोड़ जुटाने हैं. इस टारगेट को हासिल करने के लिए गृह मंत्री ने वाजे से कहा था कि अगर मुंबई में मौजूद 1750 बार और रेस्टोरेंट से अगर 2-3 लाख भी मिल जाएं तो महीने में चालीस-पचास करोड़ रुपए जुटाए जा सकते हैं.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2021, 11:25 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambir Singh) ने सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) को चिट्ठी लिखकर गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) पर आरोप लगाए हैं. न्‍यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, उन्होंने खत में लिखा है-'गृह मंत्री ने सचिन वाजे से कहा था कि उन्हें हर महीने सौ करोड़ जुटाने हैं. इस टारगेट को हासिल करने के लिए गृह मंत्री ने वाजे से कहा था कि मुंबई में मौजूद 1750 बार और रेस्टोरेंट से अगर 2-3 लाख भी मिल जाएं तो महीने में चालीस-पचास करोड़ रुपए जुटाए जा सकते हैं.' हालांकि महाराष्‍ट्र सरकार के बयान ने इसपर सस्‍पेंस खड़ा कर दिया है. महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय ने शनिवार को कहा कि परमबीर सिंह का पत्र आधिकारिक इमेल आईडी से प्राप्‍त नहीं हुआ है और ना ही उसपर उनके हस्‍ताक्षर हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, परमबीर सिंह लिखते हैं-'वाजे उसी दिन मेरे दफ्तर आया था और इस टारगेट के बारे में जानकारी दी थी. मैं इस बातचीत पर आश्चर्यचकित था और सोच रहा था कि इस स्थिति से कैसे निपटा जाए!'

अनिल देशमुख ने दिया जवाब

इस पर गृह मंत्री अनिल देशमुख ने ट्वीट कर जवाब दिया है. उन्होंने कहा है-सचिन वाजे का मनसुख हिरेन केस से सीधा संबंध सामने आ रहा है. परमबीर सिंह को डर है कि अब इसके तार उनसे भी जुड़ेंगे. उन्होंने ये झूठे आरोप खुद को बचाने कानूनी शिकंजे से बचाने के लिए लगाए हैं.
गृह मंत्री पर झूठ बोलने का लगाया आरोप

खत में परमबीर सिंह ने यह भी कहा है कि उनके ट्रांसफर के संबंध में गृह मंत्री की तरफ से झूठे बयान दिए गए हैं. परमवीर सिंह ने अनिल देशमुख के एक इंटरव्यू में दिए गए बयान का उल्लेख करते हुए कहा है-'देशमुख ने कहा कि सचिन वाजे की जांच में परमबीर सिंह तरफ से गंभीर ढिलाई बरती गई. सिंह द्वारा की गई गलतियां माफी के काबिल नहीं हैं. और उनका ट्रांसफर प्रशासनिक ग्राउंड पर नहीं हुआ है.'

परमवीर सिंह ने कहा-सीएम, डिप्टी सीएम और शरद पवार को दी थी भ्रष्टाचार की जानकारी



खत में परमबीर सिंह ने उद्धव ठाकरे को याद दिलाते हुए लिखा है कि वो पहले भी अनिल देशमुख के संबंध में जानकारी दे चुके हैं. सिंह लिखते हैं कि उन्होंने इसके बारे में राज्य के डिप्टी चीफ मिनिस्टर अजित पवार और एनसीपी प्रेसिडेंट शरद पवार को भी जानकारी दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज