लाइव टीवी

संसद की कैंटीन में जल्‍द ही मिलना बंद हो जाएगी बिरयानी-मछली और नॉनवेज चिप्‍स! मिलेगा सिर्फ वेज फूड

News18Hindi
Updated: January 14, 2020, 6:48 PM IST
संसद की कैंटीन में जल्‍द ही मिलना बंद हो जाएगी बिरयानी-मछली और नॉनवेज चिप्‍स! मिलेगा सिर्फ वेज फूड
संसद की कैंटीन का ठेका हासिल करने की दौड़ में हल्‍दीराम या बीकानेरवाला बाजती मार सकते हैं.

संसद की कैं‍टीन के लिए हल्‍दीराम (Haldiram) और बीकानेरवाला (Bikanerwala) में से किसी एक प्राइवेट वेंडर (Private Vendors) को चुने जाने की उम्‍मीद है. दोनों ही ब्रांड नॉनवेज फूड (Non-Veg Food) सर्व नहीं करते हैं. ऐसे में तय माना जा रहा है कि अब सांसदों (MPs) को संसद (Parliament) की कैंटीन में सिर्फ वेज फूड (Veg Food) ही मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2020, 6:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. संसद की कैंटीन में जल्‍द ही नॉनवेज फूड (Non-Veg Food) मिलना बंद हो सकता है. उम्‍मीद है कि हल्‍दीराम (Haldiram) या बीकानेरवाला (Bikanerwala) में किसी एक प्राइवेट वेंडर (Private Vendors) को संसद (Parliament) की कैंटीन में फूड सर्व करने की जिम्‍मेदारी दी जा सकती है. दोनों ही प्राइवेट वेंडर सिर्फ वेज फूड ही सर्व करते हैं. ऐसे में तय माना जा रहा है कि जल्‍द ही सांसदों (Parliamentarians) को संसद की कैंटीन में हर तरह के फूड के बजाय सिर्फ शाकाहारी भोजन (Veg Food) ही उपलब्‍ध होगा. बता दें कि अब तक संसद की कैंटीन में खाना परोसने की जिम्‍मेदारी भारतीय रेलवे की आईआरसीटीसी (IRCTC) के पास थी.

सरकारी कंपनी आईटीडीसी भी ठेका हासिल करने की दौड़ में
हल्‍दीराम और बीकानेरवाला के अलावा सरकारी कंपनी आईटीडीसी (ITDC) भी संसद की कैंटीन (Canteen) का ठेका हासिल करने की दौड़ में शामिल है. फूड कमेटी (Food Committee) नहीं होने के कारण लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिरला (Om Birla) को तय करना है कि तीनों में से कौन आईआरसीटीसी की जगह लेगा. सूत्रों के अनुसार, ओम बिरला हल्‍दीराम या बीकानेरवाला में से किसी एक को कैंटीन का जिम्‍मा देना चाहते हैं.

सांसद कर रहे थे आईआरसीटीसी के खाने की शिकायत

संसद की कैंटीन में बिरयानी (Bityani), चिकन कटलेट (Chicken Cutlets), मछली (Fish) और नॉनवेज चिप्‍स (Chips) को सबसे ज्‍यादा पसंद किया जाता है. ऐसे में पूरी तरह से शाकाहारी मैन्‍यू (Veg Menu) पर विवाद हो सकता है. सांसद कुछ महीनों से आईआरसीटीसी के खाने की शिकायतें कर रहे थे. साथ ही सांसद छूट को लेकर भी नाराज थे. इसके बाद नए कैटरर की मांग की गई. उम्‍मीद की जा रही है कि बजट सत्र के दौरान परामर्श समिति की बैठक में आईआरसीटीसी को हटाने के लिए नए कैटरर पर फैसला लिया जा सकता है.

कैंटीन में मिलने वाली खाने की चीजों के दाम में होगा संशोधन
समिति कैंटीन में मिलने वाली चीजों के कम दामों में संशोधन करने को लेकर भी फैसला ले सकता है. संसद की कैंटीन में मिलने वाले खाने की चीजों के कम दामों की अक्सर आलोचना होती है. शीतकालीन सत्र के दौरान जब लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिरला ने परामर्श समिति की बैठक के दौरान कैंटीन में मिलने वाली छूट छोड़ने का प्रस्‍ताव पेश किया तो सभी सांसदों ने सहमति जता दी थी. बता दें कि पिछली बार 2016 में संसद की कैंटीन में मिलने वाली चीजों की कीमतों में संशोधन किया गया था.ये भी पढ़ें:-

गृह मंत्रालय ने एनआईए को सौंपी डीएसपी दविंदर सिंह मामले की जांच!

NCP नेता नवाब मलिक के भाई की गुंडागर्दी, मजदूरों को पीटने का वीडियो आया सामने

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 6:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर