liveLIVE NOW
  • Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Parliament Live Updates: जंतर मंतर पर किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए विपक्षी नेता

Parliament Live Updates: जंतर मंतर पर किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए विपक्षी नेता

लोकसभा और राज्यसभा में कांग्रेस समेत पूरा विपक्ष पेगासस पर चर्चा के लिए अड़ा हुआ है. आज भी संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही नहीं हुई पाई. दोनों सदन, सोमवार, 9 अगस्त को 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है. यहां पढ़ें संसद के मानसून सत्र के लाइव अपडेट्स

  • News18Hindi
  • | August 06, 2021, 13:11 IST
    facebookTwitterLinkedin
    LAST UPDATED 2 MONTHS AGO

    AUTO-REFRESH

    13:37 (IST)

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि विपक्ष कह रहा है कि हम जल्दबाजी में बिल पास कर रहे हैं. 2007 में 11 बिल और 2011 में संविधान बिल जल्दबाजी में पास हुए.कांग्रेस के कपिल सिब्बल ने इसे स्वीकार किया है. हम विपक्ष से चर्चा करने के लिए कह रहे हैं और फिर भी वे इस तरह के दावे करते हैं.

    13:35 (IST)
     शर्मा का इशारा जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की ओर था. उन्होंने शेखावत का नाम लिए बिना कहा ‘‘उनका बयान सदन के पटल पर रखे जाने के लिए आज की कार्यसूची में सूचीबद्ध था. आपने उनका नाम भी पुकारा, लेकिन मंत्री यहां नहीं थे. यह सदन का अपमान है.’’ इस पर सदन के नेता पीयूष गोयल ने कहा कि वह शर्मा की बात का सम्मान करते हैं. उन्होंने कहा कि वह इस मामले को देखेंगे.

    13:35 (IST)
    राज्यसभा में शुक्रवार को दस्तावेज पटल पर रखे जाने के दौरान एक मंत्री की अनुपस्थिति को लेकर कांग्रेस ने सवाल उठाया जिनका बयान भी सदन के पटल पर रखा गया था. उच्च सदन की बैठक शुरू होने पर उपसभापति हरिवंश ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाए. आसन की अनुमति से संसदीय कार्य राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने विभिन्न दस्तावेज पटल पर रखे. इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा कि 21 मंत्रियों के दस्तावेज पटल पर एक ही मंत्री ने रखे. उन्होंने कहा कि जब उपसभापति ने एक मंत्री का नाम पुकारा तो मंत्री सदन में नहीं थे.

    13:10 (IST)

    कांग्रेस नेता राहुल गांधी और अन्य विपक्षी नेताओं ने 'किसान बचाओ, भारत बचाओ' के नारे लगाए.

    13:07 (IST)
     कांग्रेस नेता राहुल गांधी और कई अन्य विपक्षी नेता शुक्रवार को दोपहर में जंतर-मंतर पहुंचकर तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के प्रति एकजुटता प्रकट की.

    13:02 (IST)
    इसके बाद लोकसभा ने पेगासस एवं अन्य मुद्दों पर विपक्षी सदस्यों के शोर शराबे के बीच ही ‘कराधान विधि (संशोधन) विधेयक, 2021’ को मंजूरी दे दी. विधेयक के प्रावधानों के अनुसार, इसके तहत भारतीय परिसंपत्तियों के अप्रत्यक्ष हस्तांतरण पर कर लगाने के लिए पिछली तिथि से लागू कर कानून, 2012 का इस्तेमाल करके की गई मांगों को वापस लिया जाएगा. विधेयक में कहा गया है, ‘‘इन मामलों में भुगतान की गई राशि को बिना किसी ब्याज के वापस करने का भी प्रस्ताव है.’’विधेयक लाया गया. हमने जो वादा किया था, उसको पूरा करने के लिए हम संशोधन लाए हैं.’’

    13:01 (IST)

    उन्होंने कहा कि भाजपा ने विपक्ष में रहते हुए इसक विरोध करते हुए कहा था कि यह प्रावधान कानून सम्मत नहीं है और निवेशकों की भावना के प्रतिकूल भी है. वित्त मंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार बनने के बाद उच्च स्तरीय समिति ने इस पर विचार किया. उन्होंने कहा, ‘‘पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि सैद्धांतिक रूप से हम इससे सहमत नहीं है. न्यायालय में कई मामले लंबित थे और इन मामलों के तार्किक परिणति तक पहुंचने के बाद यह विधेयक लाया गया. हमने जो वादा किया था, उसको पूरा करने के लिए हम संशोधन लाए हैं.’’

    13:01 (IST)
    लोकसभा ने विपक्षी दलों के शोर शराबे के बीच शुक्रवार को ‘कराधान विधि (संशोधन) विधेयक, 2021’ को मंजूरी प्रदान कर दी जिसमें भारतीय परिसंपत्तियों के अप्रत्यक्ष हस्तांतरण पर कर लगाने के लिए पिछली तिथि से लागू कर कानून, 2012 के जरिये की गयी मांगों को वापस लिया जाएगा. इसके तहत केयर्न एनर्जी और वोडाफोन जैसी कंपनियों से पूर्व की तिथि से कर की मांग को वापस लिया जाएगा. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बीच ‘कराधान विधि (संशोधन) विधेयक, 2021’ को चर्चा एवं पारित होने के लिए पेश करते हुए कहा कि वर्ष 2012 में उच्चतम न्यायालय के एक आदेश के बाद संबंधित कानून में संशोधन किया गया जिससे पूर्व की तिथि से कर लगाया जा सकता था.

    12:29 (IST)
    इसी दौरान तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के सदस्य आसन के समक्ष आ कर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की मांग को लेकर हंगामा करने लगे. शोरगुल के बीच ही उपसभापति ने शून्यकाल आरंभ कराया. भाजपा के हरनाथ यादव, बीजद के सस्मित पात्रा तथा जद (यू) के रामनाथ ठाकुर ने अपने-अपने मुद्दे उठाए. लेकिन हंगामे के कारण शून्यकाल आगे नहीं बढ़ पाया और 11 बज कर करीब 25 मिनट पर हरिवंश ने बैठक दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

    नई दिल्ली. संसद के मानसून सत्र (Monsoon Session) में शुक्रवार को भी हंगामा हुआ. जिसके चलते सदन की कार्यवाही शुरू होने के कुछ समय के भीतर ही स्थगित कर दी गई लोकसभा और राज्यसभा में कांग्रेस समेत पूरा विपक्ष पेगासस पर चर्चा के लिए अड़ा हुआ है. वहीं सरकार का कहना है यह कोई मुद्दा नहीं है. इससे पहले दोनों सदनों ने टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाले रवि दहिया को शुभकामनाएं दीं. लोकसभा में अध्यक्ष ओम बिरला ने हिरोशिमा और नागासाकी में परमाणु बम गिराए जाने की बरसी पर सदन की ओर से श्रद्धांजलि अर्पित की. 12 बजे दोनों सदनों की कार्यवाही फिर शुरू हुई लेकिन व्यवस्था बनते ना देख 25 मिनट के भीतर ही राज्यसभा -लोकसभा की कार्यवाही स्थगित कर दी गई. अब दोनों सदनों की कार्यवाही 11 बजे, सोमवार – 9 अगस्त को शुरू होगी.

    उधर राहुल गांधी और कई अन्य विपक्षी नेता शुक्रवार को दोपहर में यहां जंतर-मंतर पहुंचकर तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के प्रति एकजुटता प्रकट की. कांग्रेस और कई अन्य विपक्षी दलों के नेताओं की बैठक में यह फैसला किया गया था. इस बैठक में राहुल गांधी के अलावा राज्यसभा के नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा एवं जयराम रमेश, द्रमुक के टीआर बालू, शिवसेना के संजय राउत और अन्य विपक्षी दलों के नेता शामिल हुए थे

    बता दें पेगासस और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर, संसद के मॉनसून सत्र में शुरू से ही दोनों सदनों में गतिरोध बना हुआ है. 19 जुलाई से यह सत्र आरंभ हुआ था, लेकिन अब तक दोनों सदनों की कार्यवाही बाधित रही है. विपक्षी दल इस बात जोर देते आ रहे हैं कि पेगासस जासूसी मुद्दे पर पहले चर्चा कराने के लिए सरकार के तैयार होने के बाद ही संसद में गतिरोध खत्म होगा. संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने विपक्ष की मांग को खारिज करते हुए गत शुक्रवार को लोकसभा में कहा था कि यह कोई मुद्दा ही नहीं है.

    यहां पढ़ें संसद के मानसून सत्र के लाइव अपडेट्स

    विज्ञापन

    विज्ञापन