Parliament Monsoon Session: आधी रात तक चली संसद, लोकसभा में ये 4 अहम विधेयक हुए पास

स्पीकर ओम बिरला ने सदन की कार्यवाही को सोमवार शाम 3 बजे तक स्थगित कर दिया है.
स्पीकर ओम बिरला ने सदन की कार्यवाही को सोमवार शाम 3 बजे तक स्थगित कर दिया है.

Parliament Monsoon Session Latest News Updates: लोकसभा में मंत्रियों के वेतन और भत्ते (संशोधन) विधेयक, 2020 पारित हो गया, जिसके तहत कोविड-19 महामारी के कारण सांसदों के वेतन, भत्तों में 30 प्रतिशत की कटौती का प्रावधान है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 8:18 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कृषि विधयेकों को लेकर रविवार को राज्यसभा जहां हंगामे के कारण सुर्खियों में रही, वहीं लोकसभा की कार्यवाही शांतिपूर्ण ढंग से आधी रात तक चली. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) ने सभी सदस्यों की सहमति से शून्य काल की कार्यवाही शुरू की. इस दौरान 88 सदस्यों ने जनहित के महत्वपूर्ण मुद्दे उठाए. इस बीच लोकसभा में मंत्रियों के वेतन और भत्ते (संशोधन) विधेयक, 2020 पारित हो गया, जिसके तहत कोविड-19 महामारी के कारण सांसदों के वेतन, भत्तों में 30 प्रतिशत की कटौती का प्रावधान है. यह विधेयक राज्यसभा में 18 सितंबर को ही पास हो चुका था.

रात 12.36 तक चली लोकसभा की कार्यवाही के दौरान अर्हित वित्तीय संविदा द्विपक्षीय नेटिंग विधेयक, 2020 (द बाइलेटरल नेटिंग ऑफ क्वालिफाइड फाइनैंशल कॉन्ट्रैक्ट्स बिल, 2020), राष्ट्रीय रक्षा यूनिवर्सिटी बिल 2020 और द नैशनल फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी बिल, 2020 भी पास हो गए हैं.

राज्यसभा में हंगामा करने वाले विपक्षी सदस्य हो सकते हैं निलंबित: सूत्र



कार्यवाही शुरू होने में एक घंटे की देरी जरूर हुई, लेकिन तय समय से 5.36 घंटे ज्यादा चली. स्पीकर ओम बिरला ने सदन की कार्यवाही को सोमवार शाम 3 बजे तक स्थगित कर दिया है. बता दें कि कोविड के कारण लोकसभा की कार्यवाही के लिए शाम 3 बजे से 7 तक का समय निश्चित है. सोमवार को 9 बजे से 1 बजे तक राज्यसभा की कार्यवाही होगी.
कोरोना पर हुई देर तक चर्चा
इससे पहले लोकसभा में कोरोना पर एक बार फिर से चर्चा हुई, जो देर तक चली. स्पीकर ने 'देश में कोविड-19 महामारी पर चर्चा' की शुरुआत से पहले अपना वक्तव्य दिया. उन्होंने कहा कि देश चर्चा और पारपस्परिक समन्व्य से कोरोना वायरस पर काबू पा लेगा. कोविड-19 पर चर्चा की शुरुआत करते हुए कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि देश में कोरोना की स्थिति पूरी दुनिया के मुकाबले बहुत खराब है. उन्होंने कहा, 'न तो हम वायरस के प्रसार को रोक पाए और न ही अर्थव्यवस्था की गति बनाए रखने में सक्षम हुए. जीडीपी 41 वर्षों में पहली बार माइनस में चली गई है.'

हर्षवर्धन ने वैक्सीन पर दी ये जानकारी
वहीं, कोविड वैक्सीन पर नई जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने सदन को बताया कि देश में चार से ज्यादा कोरोना वायरस वैक्सीन प्री-क्निकल ट्रायल के अडवांस्ड स्टेज में हैं. उन्होंने कहा, 'भारत में हमने सभी 30 वैक्सीन कैंडिडेट्स के टेस्टिंग में पूरी मदद की. इनमें तीन फेज 1, फेज 2 और फेज 3 के अडवांस्ड ट्रायल में हैं. चार से ज्यादा वैक्सीन कैंडिडेट्स प्री-क्निकल ट्रायल के अडवांस्ड स्टेज में हैं.'

राज्यसभा में कृषि विधयेकों पर हुआ हंगामा
विपक्ष के हंगामे के बीच किसान बिल राज्यसभा से पास हो गया है. कृषि संबंधित दो बिल ध्वनि मत से पास हुए हैं. उच्च सदन में बिल पर चर्चा के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने जवाब दिया. नरेंद्र सिंह तोमर के जवाब देने के दौरान विपक्ष के सांसदों ने जोरदार हंगामा किया. सांसदों ने हंगामा उसभापति के फैसले पर किया. दरअसल, सदन की कार्यवाही 1 बजे पूरी होनी थी. उपसभापति ने कार्यवाही को विधेयक के पारित होने तक बढ़ाने का फैसला लिया. विपक्ष के सांसदों ने इसपर हंगामा शुरू कर दिया. सांसदों ने रूल बुक फाड़ दी और माइक को भी तोड़ दिया.

कृषि बिल: कांग्रेस ने कहा- संसदीय लोकतंत्र में आज काला दिन, अपने हक के लिए किसान सड़कों पर

इसके बाद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह समेत केंद्र सरकार के 6 मंत्रियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इनमें राजनाथ सिंह, प्रकाश जावड़ेकर, प्रहलाद जोशी, पीयूष गोयल, थावर चंद गहलोत और मुख्तार अब्बास नकवी शामिल रहे. ध्वनि मत से बिल को पास करवाए जाने के मुद्दे पर मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि जब राज्यसभा के उपसभापति के जरिए विभाजन के लिए कहा गया तो वे सभी विपक्षी सांसद वेल में थे, वे हिंसक हो रहे थे.

राज्यसभा में आज जो तीन अहम बिल लाए जाएंगे वो इस प्रकार हैं;-

1) आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक, 2020

2) भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी कानून संस्थान (संशोधन) विधेयक, 2020

3) बैंकिंग विनियमन (संशोधन) विधेयक, 2020
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज