लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला की दो टूक, सदन में नहीं होने देंगे धार्मिक नारेबाजी

लोकसभा के इतिहास में शायद ये पहला मौका था जब शपथ के बाद इतनी बड़ी संख्या में सांसद धार्मिक नारे लगाते दिखे.

News18Hindi
Updated: June 20, 2019, 10:58 AM IST
लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला की दो टूक, सदन में नहीं होने देंगे धार्मिक नारेबाजी
ओम बिड़ला
News18Hindi
Updated: June 20, 2019, 10:58 AM IST
लोकसभा के नए स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा है कि वो संसद में किसी भी सदस्य को धार्मिक नारे लगाने की इजाजत नहीं देंगे. पिछले दिनों शपथ ग्रहण के दौरान कई सदस्यों ने सदन में धार्मिक नारे लगाए थे.

हिन्दुस्तान टाइम्स से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा, ''मुझे नहीं लगता कि पार्लियामेंट कोई ऐसी जगह है जहां कोई नारा लगाए, सदन के वेल में आए जाए या फिर बैनर-पोस्टर लहराए. विरोध के लिए अलग जगह है. उन्हें जो कुछ भी सरकार के खिलाफ कहना है वो कह सकते हैं लेकिन यहां नहीं.''

जब उनसे ये पूछा गया कि क्या आने वाले दिनों में संसद में ऐसा नहीं होगा? इसके जवाब में बिड़ला ने कहा, ''मुझे नहीं पता कि ऐसा होगा या नहीं लेकिन मैं नियमों के हिसाब से संसद में काम करूंगा.''

अल्लाह- हू-अकबर का नारा

बता दें कि संसद में मंगलवार को शपथ लेते हुए कई सदस्यों ने धार्मिक नारे लगाए थे. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के मु‌खिया और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने संसद में शपथ लेने के बाद अल्लाह- हू-अकबर का नारा लगाया था. ओवैसी जिस वक्त शपथ ले रहे थे उसी दौरान सदन में जय श्रीराम, भारत माता की जय, वंदे मातरम के नारे लगने शुरू हो गए. इसके जवाब में ओवैसी ने जय भीम, जय मीम, तकबीर अल्लाह-हू-अकबर और जय हिंद का नारा लगा दिया.

राधे-राधे
हेमा मालिनी ने शपथ लेने के बाद राधे राधे और कृष्णम वंदे जगत गुरु का नारा लगाया. बसपा सदस्यों ने जय भीम तो सपा के सदस्यों ने जय समाजवाद के नारे लगाए.
Loading...

प्रोटेम स्पीकर को दर्जनों बार शपथ के अलावा कोई और बात रिकॉर्ड में न डालने की बात दोहरानी पड़ी. लोकसभा के इतिहास में शायद ये पहला मौका था जब शपथ के बाद इतनी बड़ी संख्या में सांसद धार्मिक नारे लगाते दिखे.

ये भी पढ़ें:

पायलट ने जानबूझकर MH370 प्लेन को किया था क्रैश- रिपोर्ट

भारत को झटका, H-1B वीज़ा की संख्या कम करने वाला है अमेरिका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 20, 2019, 10:43 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...