और आगे बढ़ाया जा सकता है संसद का मौजूदा सत्र!

आम बजट के अलावा, सरकार ने राज्यसभा में बहुमत के लिए लंबे समय से लंबित विधेयकों के लिए विधायी मंजूरी ली.

News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 5:55 AM IST
और आगे बढ़ाया जा सकता है संसद का मौजूदा सत्र!
आम बजट के अलावा, सरकार ने राज्यसभा में बहुमत के लिए लंबे समय से लंबित विधेयकों के लिए विधायी मंजूरी ली.
News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 5:55 AM IST
अगर सरकार के काम काज को 9 अगस्त तक निपटाया नहीं जा सकेगा तो संसद का मौजूदा सत्र कुछ और दिनों के लिए बढ़ाया जा सकता है.

मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी की संसदीय बैठक में, एक वरिष्ठ मंत्री ने सरकार के इरादे को मौजूदा सत्र में जरूरी कानून के पारित होने का संकेत दिया, भले ही सदन को 'कुछ और दिन' के लिए बुलाया जाए.

आम बजट के अलावा, सरकार ने राज्यसभा में बहुमत के लिए लंबे समय से लंबित विधेयकों के लिए विधायी मंजूरी ली. इसमें तीन तालक को अपराध बनाने के लिए एक विधेयक शामिल है, जिसे मंगलवार को राज्यसभा ने पारित किया था.

यह भी पढ़ें:  'डिफेंस में निजी क्षेत्र को प्रोत्साहन देना है घाटे का सौदा'

विपक्ष ने लगाया है आरोप

सरकार कुछ सहयोगी दलों के साथ-साथ कुछ विपक्षी दलों द्वारा वाकआउट के चलते संख्या बल में बढ़ोतरी करने में सफल रही.

वर्तमान सत्र, जिसे 27 जुलाई को समाप्त होना था को पहले ही दो सप्ताह के लिए बढ़ा दिया गया है. वहीं विपक्ष ने सरकार पर बिलों के जरिए जल्दीबाजी करने का आरोप लगाया है.
Loading...

उन पांच कांग्रेस सांसदों के बारे में पूछे जाने पर जो ट्रिपल तलाक पर मतदान के दौरान मौजूद नहीं थे राज्यसभा में कांग्रेस के उपनेता आनंद शर्मा ने कहा कि 'ट्रिपल तलाक बिल पर व्हिप जारी करने के लिए भी हमें पर्याप्त समय नहीं दिया गया.'

यह भी पढ़ें:  तीन तलाक के साथ मॉब लिंचिंग पर कानून क्‍यों नहीं लाते: आजाद

बना दिया रिकॉर्ड!

बीचे हफ्ते तक सरकार ने संसद में दो दर्जन से अधिक बिल पेश किए थे जो पिछले 15 वर्षों में बजट और लोकसभा के पहले सत्र के लिए रिकॉर्ड है. दूसरे सदन में अपना बहुमत नहीं होने के बावजूद, वह इनमें से अधिकांश कानूनों पर संसदीय मंजूरी प्राप्त करने में सफल रहा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2019, 5:45 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...