• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • पेगासस पर चर्चा के लिए सरकार के तैयार होने तक संसद में गतिरोध रहेगा : विपक्ष

पेगासस पर चर्चा के लिए सरकार के तैयार होने तक संसद में गतिरोध रहेगा : विपक्ष

विपक्ष का आरोप है कि सरकार पेगासस मामले में चर्चा कराने से भाग रही है.  (फाइल फोटो)

विपक्ष का आरोप है कि सरकार पेगासस मामले में चर्चा कराने से भाग रही है. (फाइल फोटो)

कांग्रेस (congress) और कई अन्य विपक्षी दलों ने मंगलवार को केंद्र सरकार पर पेगासस जासूसी मामले (Pegasus spy case) को लेकर चर्चा से भागने का आरोप लगाया. राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष (leader of opposition) मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि जब तक सरकार इस विषय पर चर्चा के लिए तैयार नहीं हो जाती, तब तक संसद (Parliament) में गतिरोध खत्म नहीं होगा.

  • Share this:
    नयी दिल्ली. कांग्रेस (Congress) और कई अन्य विपक्षी दलों ने मंगलवार को केंद्र सरकार पर पेगासस जासूसी मामले (Pegasus spy case) को लेकर चर्चा से भागने का आरोप लगाया और कहा कि जब तक सरकार (Government) इस विषय पर चर्चा के लिए तैयार नहीं हो जाती, तब तक संसद (Parliament) में गतिरोध खत्म नहीं होगा. राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष (Leader of opposition)  मल्लिकार्जुन खड़गे ने कई विपक्षी दलों के नेताओं की मौजूदगी में संवाददाताओं से कहा कि सरकार को सभी दलों की बैठक बुलानी चाहिए और पेगासस जासूसी प्रकरण पर चर्चा के लिए तैयार होकर इस गतिरोध को खत्म करने का प्रयास करना चाहिए.

    उन्होंने कहा, ‘‘हमने पेगासस और किसानों का मुद्दा उठाया. सरकार चर्चा के लिए तैयार नहीं है. हम चाहते हैं कि उच्चतम न्यायालय की निगरानी में पेगासस मामले की जांच हो और जो कुछ हो, वो सामने आए.’’ खड़गे ने सवाल किया, ‘‘फ्रांस, हंगरी, जर्मनी और कई अन्य देशों में इस मामले में जांच चल रही है. लेकिन समझ नहीं आता कि हमारी सरकार जांच के लिए क्यों तैयार नहीं हो रही है? क्या यह सरकार खुद जासूसी कर रही है या फिर कोई और है? ’’

    ये भी पढ़ें : बच्चों के लिए अगले महीने आ सकती है कोरोना वैक्सीन- स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने BJP सांसदों को बताया

    उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘मोदी जी किसी मुद्दे का लोकतांत्रिक ढंग से समाधान करने को तैयार नहीं है. यह तानाशाही है.’’ खड़गे ने कहा, ‘‘सरकार सब पार्टियों को बुलाए और मिलकर बात करे. हम मिलकर लड़ने वाले हैं.’’ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा, ‘‘एक चीज बहुत स्पष्ट है कि संसद में गतिरोध खत्म करना अब सरकार की जिम्मेदारी है. यह सरकार विपक्ष को सुनने को तैयार नहीं है. इस सरकार ने ऐसा काम किया है जिससे लोकतंत्र और संसद की गरिमा गिरी है.’’

    ये भी पढ़ें : Assam-Mizoram Border Row: असम के सीएम ने मिजोरम पर मढ़ा सीमा विवाद का दोष, कहा- एक इंच भी जमीन नहीं छोड़ेंगे

    उन्होंने दावा किया, ‘‘संसद सिर्फ विधायी एजेंडा के लिए नहीं है. सरकार यह बोलकर देश को गुमराह कर रही है कि वह विपक्ष से बात करना चाहती है. विपक्ष को सदन के भीतर ‘ब्लैकआउट’ किया जा रहा है.’’ शर्मा ने कहा, ‘‘अगर सरकार के पास कुछ छिपाने के लिए नहीं है तो आज ही चर्चा कराइए.’’ तृणमूल कांग्रेस के सुखेंदु शेखर रॉय ने कहा, ‘‘किसने पेगासस की खरीद का आदेश दिया, इसका खुलासा होना चाहिए. हम इसलिए व्यवस्थित चर्चा की मांग कर रहे हैं. सरकार चर्चा से भाग रही है.’’

    उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री और गृह मंत्री सदन में क्यों नहीं आ रहे हैं. इस मुद्दे पर चर्चा के बिना हम कोई दूसरा कामकाज नहीं होने देंगे.’’ समाजवादी पार्टी के रामगोपाल यादव, द्रमुक के तिरुची शिवा, भाकपा के विनय विश्वम और आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने भी पेगासस मामले पर तत्काल चर्चा कराए जाने की मांग की.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज