Home /News /nation /

शीतकालीन सत्र: विरोध के बीच राज्यसभा में पास हुआ डैम सेफ्टी बिल, विपक्ष ने बूस्टर डोज पर पूछे सवाल

शीतकालीन सत्र: विरोध के बीच राज्यसभा में पास हुआ डैम सेफ्टी बिल, विपक्ष ने बूस्टर डोज पर पूछे सवाल

जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने डैम सेफ्टी बिल पर चर्चा की. (फाइल फोटो: ANI)

जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने डैम सेफ्टी बिल पर चर्चा की. (फाइल फोटो: ANI)

Parliament's Winter Session: गुरुवार को टीएमसी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने सरकार से पीएम-केयर्स फंड के पैसे के उपयोग के अलावा कोविड-19 के लिए बूस्टर डोज पर सवाल किया. पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ टीएमसी के सांसद सौगत रॉय ने महामारी से निपटने में लापरवाही के आऱोप लगाए. उन्होंने कहा कि सरकार के शीर्ष स्तर की 'गलतियों' के कारण देश कोविड-19 की दोनों लहरों में 'बगैर तैयारी' के फंस गया.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. विपक्षी दलों के विरोध के बीच गुरुवार को राज्यसभा (Rajya Sabha) ने बांधों की सुरक्षा से जुड़ा विधेयक (Dam Safety Bill) पास कर दिया. कई विपक्षी दल सरकार के इस कदम को संघवाद पर हमला बता रहे हैं. साथ ही उन्होंने इस बिल को चयन समिति के पास जांच के लिए भेजने की मांग उठाई है. इस बिल में आपदा से बचने के लिए बांधों की नियमित जांच, निगरानी, रख रखाव और संचालन की बात कही गई है. लोकसभा (Loksabha) की तरफ से विधेयक को साल 2019 में पास कर दिया गया था.

    कई सांसदों का कहना था कि केंद्र सरकार राज्यों की ताकत कम करना चाहती है. बिल पर चर्चा के दौरान 22 सांसद मौजूद थे. विपक्षी दलों के सांसदों की चिंताओं पर केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि सरकार ने मिलकर काम करने वाले संघवाद के सिद्धांतों का पालन किया है. कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, डीएमके, सीपीआई (एम) और आरजेडी ने सरकार पर राज्य सरकारों की ताकत हथियाने के आरोप लगाए थे. उनका कहना था कि बांध राज्य का मुद्दा है औऱ केंद्र, राज्यों के लिए नियम नहीं बना सकता.

    यह भी पढ़ें: Delhi Air Pollution: सुप्रीम कोर्ट की चेतावनी का असर, वायु प्रदूषण से निपटने के लिए केंद्र ने गठित की टास्क फोर्स

    बूस्टर डोज पर पूछा सवाल
    गुरुवार को टीएमसी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने सरकार से पीएम-केयर्स फंड के पैसे के उपयोग के अलावा कोविड-19 के लिए बूस्टर डोज पर सवाल किया. पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ टीएमसी के सांसद सौगत रॉय ने महामारी से निपटने में लापरवाही के आऱोप लगाए. उन्होंने कहा कि सरकार के शीर्ष स्तर की ‘गलतियों’ के कारण देश कोविड-19 की दोनों लहरों में ‘बगैर तैयारी’ के फंस गया. उन्होंने कहा, ‘आज तक भी, मुझे नहीं पता कि दुनियाभर में खोजे गए अन्य टीकों का क्या हुआ. क्या ये वैक्सीन भारत आ चुकी हैं और क्या इनका इस्तेमाल किया जा सकता है.’

    निलंबित सांसदों का धरना जारी
    गुरुवार को राज्यसभा से निलंबित किए गए 12 सांसदों का धरना प्रदर्शन जारी रहा. इन सांसदों को मानसून सत्र के अंतिम दिन हंगामा करने के चलते सस्पेंड किया गया था. केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने सोमवार को राज्यसभा अध्यक्ष एम वेंकैया नायडू को मानसून सत्र के दौरान हुई हिंसा के संबंध में पत्र लिखा था. निलंबित हुए सांसदों में 6 कांग्रेस, 2 टीएमसी, 2 शिवसेना और 1-1 सीपीएम और सीपीआई के हैं.

    Tags: Dam Safety Bill, Loksabha, Parliament, Rajya sabha, Winter Session

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर